भारत में बन रही है पहली प्लाज्मा थेरेपी वैक्सीन

इंटास फार्मास्युटिकल ने प्लाज्मा वैक्सीन विकसित करने का काम किया है शुरू

0

नई दिल्ली: इस वक्त भारत (India) में कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण अपने चरम पर है। हर रोज 70 हजार के पार नए मीरोजों की पुष्टी हो रही है। दुनिया समेत भारत में भी कोरोना की तीन वैक्सीन (Vaccine) पर काम चल रहा है, जो करीब करीब अपने अंतिम चरण तक भी पहुच चुका है, इसी बीच भारत में पहली प्लाज्मा थेरेपी (Plasma Therapy) वैक्सीन बनाने की दिशा में भी प्रयोग चल रहे हैं।

बता दें भारत की इंटास फार्मास्युटिकल (Intas Pharmaceuticals) फार्मा कंपनी देश की पहली प्लाज्मा थेरेपी वैक्सीन के लिए एक महीने में ह्यूमन ट्रायल की शुरुआत करने जा रही है। कंपनी का दावा है कि इस वैक्सीन के इस्तेमाल के बाद मरीज को कोविड-19 के लिए प्लाज्मा थेरेपी देने की जरूरत नहीं होगी।

भारत समेत अन्य कई देशो ने कोरोना महामारी से बचने के लिए प्लाज्मा थेरेपी का प्रयोग किया है, जो काफी कारगर भी साबित हुआ है। ऐसे में प्लाज्मा थेरेपी वैक्सीन से एक उम्मीद की किरण जरूर जागी है।

इंटास मेडिकल एंड रेग्युलेटरी अफेर्स का कहना है कि देश में कोरोना वायरस के इलाज की ये पहली दवा बनाई जा रही है। साथ ही ये पूरी तरह से स्वदेशी है। इस दवा को हाइपरिम्युन ग्लोब्युलिन (Hyperimmune Globullin) ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीजीसीआई) की तरफ से कोविड-19 के इलाज के लिए ह्यूमन ट्रायल की अनुमति भी मिल चुकी है, अगले महीने इसका ह्यूमन ट्रायल शुरू किया जा सकता है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: