Bihar News Update: बिहार के नालंदा में शराब पीने से 8 की मौत, जांच में जुटी पुलिस

0

Bihar News Update: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले ही राज्य में शराबबंदी लागू करने को लेकर अधिकारियों को सख्ती बरतने के निर्देश दिए हों, लेकिन शनिवार को उनके गृह जिले नालंदा में ही कथित तौर पर आठ लोगों की मौत शराब पीने से हो गई। बताया जा रहा है कि अभी भी दो पीड़ित लोगों का इलाज चल रहा है।

Bihar News Update

Bihar News Update: सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले में हुआ हादसा

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी मुहल्ले में संदिग्ध स्थिति में आठ लोगों की मौत हो गई। मुख्यमंत्री के गृह जिले में ऐसी घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद और नालंदा (सदर) डीएसपी डॉ शिब्ली नोमानी मौके पर पहुंच कर मामले की जांच प्रारंभ कर दी। इसके बाद पुलिस और जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी संबंधित क्षेत्र पहुंचे और लोगों से जानकारी प्राप्त की।

Bihar News Update: मरने वालों की उम्र 45 से 65 साल के बीच

नालंदा के जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने मीडिया को बताया कि अब तक आठ लोगों की मौत हुई है जबकि दो अभी भी पीड़ित बताए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मौत के कारणों का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा, लेकिन प्रथम दृष्टया शराब पीने से ही मौत की आशंका व्यक्त की जा रही है।

ये भी पढ़े- Bengal train accident: गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटना में मृतकों की संख्या हुई 9, मृतकों और घायलों के लिए मुआवज़े की घोषणा

इधर, मृतक के परिजन भी शराब पीने से मौत बता रहे हैं। मृतकों की उम्र 45 से 65 साल के बीच बताई जा रही है। इधर, घटना के बाद से ही क्षेत्र में अवैध शराब के खिलाफ अभियान प्रारंभ कर दिया गया है। शुभंकर ने बताया कि पूरे क्षेत्र में कांबिग ऑपरेशन चलाया जाएगा और कोई भी शराब का व्यापार करते पकड़ा जाएगा तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Bihar News Update: शराब पर प्रतिबंध लगने के बाद से ही उठते रहे हैं सवाल

वहीं खबरों के मुताबिक शराब पीने से मरने वालों की संख्या 10 है। उल्लेखनीय है कि बिहार में अप्रैल 2016 से शराब की बिक्री और सेवन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, हालांकि इस पर अमल को लेकर प्रारंभ से ही सवाल उठते रहे हैं।

पिछले साल दीपावली के आसपास भी राज्य के चार जिलों में शराब पीने से 40 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी को लेकर समीक्षा बैठक की थी, जिसमें शराब बंदी कानून को लागू करवाने को लेकर सख्ती बरतने का आदेश अधिकारियों को दिया था। मुख्यमंत्री भी शराब के खिलाफ जागरूकता पैदा करने के लिए समाज सुधार यात्रा के तहत विभिन्न जिलों का दौरा कर चुके हैं।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.