Lakhimpur kheri violence SC Hearing: आरोपी आशीष मिश्रा का जमानत याचिका पर हुई SC में सुनवाई

Lakhimpur kheri violence SC Hearing: सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा है

0

Lakhimpur kheri violence SC Hearing: बीते साल 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में हुए हत्याकांड के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा की जमानत रद्द होने की मांग पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। आज सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सीजेआई एनवी रमण, जज जस्टिस सूयर्कांत और जज जस्टिस हिमा कोहली की पीठ के समक्ष सुनवाई हुई जसमें उत्तर प्रदेश सरकार का पक्ष रखने वाले वकील महेश जेठमलानी ने कहा कि मामले के दोषी आशीष मिश्रा पर गंभीर आरोप हैं, लेकिन इसके बावजूद भी लखीमपुर खीरी हत्याकांड का दोषी आशीष मिश्रा भागने वालो में से नहीं है।

सोमवार हुई सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार का पक्ष रखने वाले वकील महेश जेठमलानी के इस दलील के बाद सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला फिलहाल सुरक्षित रखा है।

ये भी पढ़ें- UP Rampur Illegal House: रामपुर जिले के एक शख्स ने अपने ही मकान को गिराने की सरकार से लगाई गुहार

Lakhimpur kheri violence SC Hearing: कोर्ट में जेठमलानी ने कही ये बात

Lakhimpur kheri violence SC Hearing
Lakhimpur kheri violence SC Hearing

आपको बता दें, मामले में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से उनका पक्ष रखने वाले वकील महेश जेठमलानी ने आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा कि “जहां तक मेरिट का सवाल है, हम हलफनामे पर भरोसा कर रहे हैं। हमने इलाहाबाद हाईकोर्ट में जो कुछ भी कहा, हम वही कह रहे हैं। हमने एक हलफनामा दायर किया है, जिसमें कहा गया है कि गवाहों को सुरक्षा दी की गई है। हमने सभी 97 गवाहों से संपर्क किया है और उन सभी ने कहा कि कोई खतरे वाली बात नहीं है। ”

Lakhimpur kheri violence SC Hearing: एडवोकेट सीएस पांडा और शिव त्रिपाठी ने जमानत रद्द करने की मांग की

वहीं दूसरी ओर दूसरे पक्ष के वकील एडवोकेट सीएस पांडा और शिव त्रिपाठी ने देश की शीर्ष अदालत से ये अपील की है कि लखीमपुर खीरी हत्याकांड के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा जमानत को फैरन रद्द किया जाए। आपको बता दें, आज हुई सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार के पक्ष रख रहे वकील महेश जेठमलानी से चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमण सहमत नजर नहीं आए।

Lakhimpur kheri violence SC Hearing: SC में चीफ जस्टिस ने जेठमलानी से कही ये बात

आज सुप्रीम कोर्ट में दलील के दौरान जब उत्तर प्रदेश सरकार के पक्ष रख रहे वकील महेश जेठमलानी ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमण के सामने कहा कि शुक्रवार को स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम की रिपोर्ट मिली और हमने इसे राज्य सरकार को भेज दिया, तो इस पर एनवी रमण ने जेठमलानी से कहा कि ”आपने चिट्ठी लिखी तो आपने कोई जवाब नहीं दिया। यह कोई ऐसी मामला नहीं है जहां आप इतना इंतजार करें।” साथ ही ये भी कहा कि हमें उम्मीद ती कि राज्य सरकार एसआईटी की सिफारिश पर कार्रवाई करेगी

Lakhimpur kheri violence SC Hearing: क्या है पूरा मामला

Lakhimpur kheri violence SC Hearing
Lakhimpur kheri violence SC Hearing

बीते 3 अक्टूबर 2021 को लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में किसान प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में 4 किसानों की कार से कुचलने से मौत हो गई थी। जिसके बाद हुई हिंसा में बीजेपी के 2 कार्यकर्ता और एक पत्रकार समेत ड्राइवर हरिओम की मौत हो गई थी। इस हिंसा में बीजेपी कार्यकर्ता श्याम सुंदर निषाद और पत्रकार रमन कश्यप मारे गए थे।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.