टिकट न मिलने से परेशान हैं गुप्तेश्वर पांडे, क्यों फिर गया उम्मीदों पर पानी ?

हाल ही में गुप्तेश्वर पांडे ने IPS की नौकरी से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लिया था और उन्होंने जनता दल यूनाइटेड पार्टी की सदस्यता ली थी। चर्चा थी कि लड़ेंगे चुनाव, लेकिन नहीं मिला टिकट।

0

पटना: बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे (Gupteshwar Pandey) के चुनाव लड़ने को लेकर जो अटकलें लगाई जा रही थी उन पर अब पूर्ण विराम लग चुका है। 2020 बिहार विधानसभा चुनाव में उन्हें कहीं से भी टिकट नहीं मिला है।

हाल ही में उन्होंने IPS की नौकरी से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लिया था और इसके बाद उन्होंने नीतीश कुमार(Nitish Kumar) की पार्टी जदयू की सदस्यता ग्रहण की थी। तब से ये कयास लगाए जा रहे थे कि उन्हें बक्सर(Buxar) विधानसभा सीट से टिकट मिलेगा लेकिन वह सीट भाजपा के पाले में चली गई। इसके बाद भी उम्मीद थी कि उन्हें कहीं और से टिकट मिलेगा । लेकिन जदयू ने अपने सभी 115 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी। इस लिस्ट में कहीं भी गुप्तेश्वर पांडे(Gupteshwar Pandey) का नाम नहीं है।

इसके बाद एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से गुप्तेश्वर पांडे(Gupteshwar Pandey) ने अपनी बात रखी। बुधवार की रात पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘अपने अनेक शुभचिंतकों के फोन से परेशान हूं। मैं उनकी चिंता और परेशानी भी समझता हूं। मेरे सेवा मुक्त होने के बाद सबको उम्मीद थी कि मैं चुनाव लड़ूंगा लेकिन मैं इस बार विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ रहा। निराश होने की कोई बात नहीं है। मेरा जीवन संघर्ष में ही बीता है। मैं जीवन भर जनता की सेवा में रहूंगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: