Guideline Impact On loudspeaker: सीएम योगी के आदेश का हुआ असर, श्रीकृष्‍ण जन्‍मस्‍थान की चोटी पर लगा लाउडस्‍पीकर हुआ बंद

Guideline Impact On loudspeaker: मथुरा में रोज सुबह 5:30 से 6:30 बजे तक मंगलाचरण आरती की अब नहीं आएगी आवाज

0

Guideline Impact On loudspeaker: बीते दिनों लाउडस्पीकर को लेकर जिस तरह से देश में बवाल मचा हुआ है उसे देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया था कि धार्मिक स्थानों पर लगे लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर नहीं जानी चाहिए। मुख्यमंत्री के इस आदेश के बाद सबसे पहले इसका असर उत्तर प्रदेश के मथुरा में देखने को मिला।

बता दें, मथुरा स्थित श्रीकृष्‍ण जन्‍मस्‍थान की चोटी पर लगा लाउडस्‍पीकर बुधवार की सुबह नहीं बजा। मंदिर में रोज सुबह 5:30 से 6:30 बजे तक मंगलाचरण आरती और विष्‍णु सहस्‍त्रनाम पाठ किया जाता था जिसकी आवाज मंदिर की शिखर पर लगे लाउडस्पीकर से सुनाई पड़ती थी। लेकिन आज सुबह ऐसा कुछ नहीं हुआ।

Guideline Impact On loudspeaker
Guideline Impact On loudspeaker

ये भी पढ़ें- UP Weather Update: अगले 24 घंटों में चलेगी धूल भरी आंधी, होगी बूंदाबांदी, गर्मी से मिलेगी राहत

Guideline Impact On loudspeaker: सीएम योगी ने प्रदेश में बढ़ाई सख्ती

बीते दिनों हनुमान जयंती की मौके पर शोभायात्रा के दौरान दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हुए दंगे के बाद अब दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उत्तर प्रदेश में सख्ती को बढ़ा दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये सख्त आदेश दिया था कि प्रदेश में प्रशासन के बिना आदेश के किसी को भी धार्मिक शोभा यात्रा निकालने की इजाजत नहीं होगी।

Guideline Impact On loudspeaker: ”लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर ना जाए”- CM योगी

Guideline Impact On loudspeaker
Guideline Impact On loudspeaker

साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह भी आदेश दिया था कि अगर कोई लाउडस्पीकर का प्रयोग किसी भी धार्मिक कार्यक्रम में करता है तो यह ध्यान रखे कि लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर ना जाए। सभी को अपने अपने धर्म के मुताबिक अराधना करने का अधिकार है लेकिन इस बात का विशेष ध्यान रखें कि दूसरों को इससे कोई परेशानी ना हो।

Guideline Impact On loudspeaker: प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को यह निर्देश भी दिया था कि आगे आने वाले धार्मिक कार्यक्रमों और त्योहारों में उत्तर प्रदेश में मध्यप्रदेश के खरगोन और दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई हिंसा ना होने पाए इसलिए प्रदेश के सभी संवेदनशील इलाको में भारी पुलिस बल की तैनाती की जाए।  साथ ही किसी भी तरह की संदिग्ध गतिविधी पर फौरन कार्रवाई की जाए।

आपको बता दें, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐसा इसलिए कहा है कि आने वाले दिनों में ईद और अक्षय तृतीया एक ही दिन हो सकते हैं ऐसे में जो स्थिती इस वक्त चल रही है उसे देखते हुए उत्तर प्रदेश में भी हिंसा की संभावना हो सकती है।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.