PMO ट्रांसफर के बाद भी नहीं रुकी रफ्तार, 17 किमी पैदल चलकर गांव पहुंचे DM मंगेश घिल्डियाल

हाल ही में टिहरी के डीएम मंगेश घिल्डियाल को पीएमओ में अंडर सेक्रेटरी के पद के लिए चुना गया है।

0

उत्तराखंड – टिहरी के लोकप्रिय जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल को हाल ही में पीएमओ PMO में अंडर सेक्रेटरी (Under Secretary) के पद के लिए चुना गया है। बावजूद इसके उनके काम करने की रफ्तार नहीं रुकी वह सोमवार 14 सितंबर को एक आपदा पीड़ित गांव का दौरा करने के लिए 17 किलोमीटर पैदल चलकर सीमांत गांव गंगी पहुंचे। जहां उन्होंने न सिर्फ पीड़ितों का हाल पूछा बल्कि उन्हें बेहतर सुविधाओं के लिए भरोसा भी दिलाया।

लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुनना और उनकी समस्याओं को निपटाना ही मंगेश घिल्डियाल की लोकप्रियता का कारण है। इसी वजह से लोग उन्हें प्यार करते हैं और उनके ट्रांसफर पर सड़कों पर भी उतर आते हैं। अपने पिछले कार्यकाल के दौरान भी ऐसे कई मौके मंगेश घिल्डियाल (DM Mangesh Ghildiyal) ने जनता को दिए जब कभी वह भेष बदलकर अधिकारियों के भ्रष्टाचार को जांचने निकल जाते तो कभी साधारण लोगों के बीच जाकर उनकी बातें सुनकर उनकी समस्याओं को जानते।

क्या है मामला

जानकारी के मुताबिक टिहरी जिले (Tehri District) के जिलाधिकारी डीएम मंगेश घिल्डियाल सोमवार को भिलंगाना ब्लॉक (Bhilangana Block) के गंगी गांव (Gangi Village) 17 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंचे। वहां बीते 10 अगस्त को तेज बारिश होने के कारण गांव के बीच से गुजरने वाला गधेरा उफान पर आ गया था। जिससे तीन मकान क्षतिग्रस्त हुए और गौशाला टूटने से दस पशु भी मलबे में दबकर मर गए थे। स्थिति का जायजा लेने और लोगों की समस्याओं को सुनने ही डीएम मंगेश घिल्डियाल पैदल चलकर सीमांत गांव गंगी पहुंचे थे।

क्या कुछ हुआ

गांव के लोगों से बातचीत के बाद डीएम मंगेश घिल्डियाल ने क्षतिग्रस्त रास्तों और पैदल पुलों को जल्द से जल्द दुरुस्त करवाने के लिए संबंधित विभागों से बात की। इसी के साथ गांव में जल्द से जल्द विद्यालय भवन का निर्माण करने का भी भरोसा दिलाया। मोबाइल नेटवर्क का ना आना भी गांव वालों के लिए एक परेशानी का कारण था, जिससे अन्य लोगों से संपर्क उनका कट जाता है। इसीलिए जाते-जाते डीएम मंगेश घिल्डियाल ने गांव को मोबाइल टावर का तोहफा भी दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: