कोरोना संकट: प्लाज्मा डोनर्स की कमी, अस्पताल के पास 725 की लिस्ट देने आए सिर्फ 35

0

कोरोना संकट: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Cororna Vairus) संकट का प्रकोप बढ़ता चला जा रहा है, कोरोना के मामले बढ़ने की वजह से प्लाजमा (Plasma Therapy) की किल्लत भी होने लगी है। जिसको दूर करने के लिए प्लाजमा दान करने वोलों की डिमांड भी बढ़ गई है लेकिन लोग इसके लिए लोग आगे नहीं आ रहे हैं। मेरठ के LLRM अस्पताल (LLRM Hospital) में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। यहां पर प्लाजमा दान करने वालों की कमी देखी जा रही है। मेडिकल कॉलेज की तरफ से 725 लोगों की लिस्ट तैयार की गई थी, जिसमें से

यूपी में कोरोना संकट के बीच प्लाजमा की कमी से जूझ रहे हैं अस्पताल

मेरठ के एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज ने प्लाजमा डोनेशन (Plasma donation) के लिए 725 लोगों की लिस्ट तैयार की थी, लेकिन इनमें से अबतक सिर्फ 35 लोग ही प्लाज्मा देने के लिए सामने आए हैं.। इनमें से सिर्फ 13 लोगों में पर्याप्त एंटीबाडी (Antibody) मिली। इन्हीं का प्लाज्मा लिया गया। 23 नवंबर 2020 को मेडिकल कॉलेज में खून से प्लाज्मा अलग करने वाली मशीन आ गई थी। इसका उद्घाटन चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना  (Medical Education Minister Suresh Khanna) ने ऑनलाइन किया था। इसके बाद से इस मशीन के जरिए प्लाज्मा निकालने की प्रक्रिया शुरू हो गई।

यूपी में बढ़ा कोरोना संकट मौजूदा समय में 1,50,676 एक्टिव केस  

लेकिन प्लाजमा डोनेशन (Plasma donation) करने के लिए कम लोगों के सामने आने से प्लाजमा की कमी बढ़ गई है। LLRM मेडिकल कॉलेज के कोरोना ( Covid-19) वार्ड इंचार्ज डा. सुधीर राठी ने बताया कि 725 लोगों की लिस्ट तैयार की गई थी, मेडिकल कॉलेज ने इन सब से संपर्क किया, लेकिन सिर्फ 35 लोग ही प्लाजमा देने के लिए तैयार हुए जिनमें से सिर्फ 13 लोग ही फिट थे। डा. राठी ने बताया कि अस्पताल में सिर्फ 5 यूनिट प्लाजमा बचा। बाकी का डोनेट कर दिया गया है। कोरोना को मात देने वाले मरीजों से प्लाज्मा लेकर उसे स्टोर कर लिया जाता है। जरूरत के हिसाब से उसका इस्तेमाल किया जाता है। उन मरीजों को प्लाज्मा थेरेपी दी जा सकती है जिनपर रेमडेसिविर इंजेक्शन का कोई भी असर नहीं होता है।

ये भी पढ़ें-Corona Latest Updates: उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर जारी, लगातार दूसरे दिन सबसे अधिक मामले

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Cororna Vairus ) संकट के बीच प्लाज्मा डोनर्स की डिमांड भी बढ़ती जा रही है। मौजूदा समय में यूपी में 1,50,676 एक्टिव केस (Corona Active Case) हैं। प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर, गोरखपुर, झांसी, गाजियाबाद, मेरठ, लखीमपुर खीरी और जौनपुर में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को facebook Page पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: