Anokhi Shaadi: बिहार में एक दुल्हन ने बदल डाली पुरानी परंपरा, दुल्हे को लेने बारात संग घोड़े पर सवार होकर पहुंची दुल्हन

0

Anokhi Shaadi: बिहार के गया में जिले में एर अनोखी शादी लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। अब तक आपने दूल्हे को घोड़ी पर चढ़कर बारात के साथ अपनी दुल्हन को लाने के लिए जाते देखा और सुना होगा, लेकिन बिहार के गया में मंगलवार की शाम एक अनोखा मामला देखने को मिला जब सजी धजी, हाथ में मेंहदी लगाए दुल्हन घोड़े पर सवार होकर बारात के संग अपने दूल्हे को लेने उसके दरवाजे तक पहुंच गई।

Anokhi Shaadi

Anokhi Shaadi: दूल्हे के परिजनों ने किया दुल्हन और बारात का स्वागत

दरअसल, गया शहर के चांदचैरा की रहने वाली दुल्हनिया अनुष्का गुहा की शादी पश्चिम बंगाल के कोलकाता के रहने वाले जीत मुखर्जी से हुई। चांदचैरा स्थित सिजुआर भवन धर्मशाला से दुल्हनिया घोड़े पर सवार होकर बड़े शान से अपने दूल्हे राजा को लेने उसके होटल पहुंची और वहां दुल्हन और बारात का सवागत दूल्हे परिजनों द्वारा किया गया। बारात में शामिल महिलाएं झूम रही थी। इस नायाब बारात को देखने के लिए आसपास के लोग भी सड़क पर निकल गए।

Anokhi Shaadi: समाज में लड़के-लड़कियों के बीच भेदभाव को मिटाने के लिए उठाया कदम

बारात का स्वागत करने के बाद दूल्हा कार में सवार होकर दुल्हन के पीछे-पीछे जयमाला स्टेज तक गया। इस दौरान दोनों पक्षों के लोग भी शामिल थे। घोड़ी पर सवार होकर बारात निकालने वाली दुल्हनिया अनुष्का कोलकाता में इंडिगो एयरलाइंस में एयर होस्टेस के पद पर कार्यरत है।

ये भी पढ़ें- Corona Case in India Updates: भारत में कोरोना वायरस के 6,984 नए मरीज़, 247 लोगों की मौत की पुष्टि

इस अनोखी बारात को लेकर जब अनुष्का से सवाल पूछा गया तो दुल्हनिया ने कहा, आज भी लड़के और लड़कियों में भेदभाव किया जाता है, लड़कियों को लड़कों के बराबर लाने के लिए ऐसी मुहिम की बेहद जरूरत है। इसे एक बदलाव के रूप में देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि लड़के ही बारात लेकर अपनी दुल्हन को लेने क्यों जाएंगें, दुल्हन भी ऐसा क्यों नहीं कर सकती।

Anokhi Shaadi: दूल्हे ने कहा- हमने समाज को एक अच्छा संदेश दिया है

अनुष्का से शादी रचाने वाले दूल्हे जीत मुखर्जी ने भी कहा कि इस तरह के काम से समाज मे एक अच्छा संदेश जाता है। उन्होंने कहा कि हम दूसरों से सुधरने की उम्मीद तो करते हैं लेकिन खुद वही गलती करते हैं। इसलिए परिवर्तन खुद से प्रारंभ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज लड़कियां पुरूषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चलती हैं, तो इसमें बुराई क्या है।

दुल्हे के पिता रूदल फरेरा भी बेटे और बहू के इस कदम की तारीफ करते हैं। उन्होंने कहा कि यह बहुत अच्छा कदम है। उन्होंने कहा कि किसी भी उम्र के लोगों को अगर इस कदम के विषय में समझाया जाए तो वे भी समझ जाएंगे कि कहीं इसमें गलती नहीं है। दुनिया अब इस दिशा में आगे चल रही है।

Anokhi Shaadi: इस अनोखे विवाह को लेकर दोनों परिवार हैं बेहद खुश

इधर, दुल्हन की मां सुष्मिता भी बताती हैं कि प्रारंभ में अनुष्का ने इस आइडिया को लेकर पूछा था। उन्होंने बताया कि बेटी के इस आइडिया पर दामाद का भी सहयोग मिला। उन्होंने इस विवाह पर खुशी जताते हुए कहा कि पूरा परिवार इस अनोखे विवाह को लेकर उत्साहित था। अब तो हमारे सभी परिवार वाले भी अपने बेटे, बेटी की शादी इस अनोखे तरीके से करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि इसे समाज में एक बदलाव के रूप में देखना चाहिए।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.