रुका ऑक्सफोर्ड कोरोना वैक्सीन का ट्रायल, सामने आयी ये बड़ी वजह

ब्रिटिश फ़ार्मा कंपनी एस्ट्राजेनका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैक्सीन ट्रायल के तीसरे फेज़ के दौरान रोकना पड़ा ट्रायल

0

मंगलवार को ब्रिटिश फ़ार्मा कंपनी एस्ट्राजेनका  (astrazenka) ने एक वॉलन्टियर के बीमार हो जाने से कोरोना वायरस वैक्सीन का ट्रायल रोक दिया है। यह वैक्सीन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (oxford university) के सहयोग से बनायी जा रही है। कंपनी वैक्सीन के ट्रायल के तीसरे फेज़ मे है।

क्या कहा कंपनी ने

ट्रायल के रुकने को लेकर कंपनी ने बयान जारी करते हुए कहा,
“यह (ट्रायल का रुकना) एक नियमित ऐक्शन है जो किसी भी परीक्षण में अनएक्सप्लेन्ड बीमारी होने पर की जाती है, हम परीक्षण की अखंडता को बनाए रखते हुए इसकी जाँच कर रहे हैं।”

आगे कंपनी ने कहा,
“बड़े परीक्षणों में, बीमारी संयोग से होती है लेकिन इसकी ध्यानपूर्वक और स्वतंत्र रूप से समीक्षा की जानी चाहिए। हम परीक्षण की समयसीमा पर किसी भी प्रभाव को कम करने के लिए इस घटना की समीक्षा कर रहे हैं। हम अपने वालंटियर्स की सुरक्षा और ट्रायल के उच्चतम मानक को बनाये रखने के लिये प्रतिबद्ध हैं।”

नौ कंपनियों ने साइन किया प्रतिज्ञा-पत्र

मंगलवार को एस्ट्राजेनका ने BioNTech, GlaxoSmithKline, Johnson and Johnson, Moderna, Novavax, Pfizer, Sonofi और Merck कंपनियों के साथ एक प्रतिज्ञा-पत्र साइन किया। इसमे कहा गया है कि ये सभी कंपनियाँ कोरोना वायरस वैक्सीन के लिये समय से पहले सरकार की मंजूरी नही लेंगी। वैक्सीन के संबंध मे पर्याप्त डाटा मिलने तक इन्तज़ार किया जायेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: