पांच एशेज सिरीज़ जीतने वाले इंग्लिश क्रिकेटर इयान बेल का पेशेवर क्रिकेट से संन्यास

काउंटी क्रिकेट का जारी सत्र इयान बेल के खेल का आखिरी पड़ाव होगा।

0
दिग्गज इंग्लिश क्रिकेट खिलाड़ी इयान बेल ने शनिवार को 22 वर्षों के लम्बे पेशेवर क्रिकेट करियर को अलविदा कह दिया। काउंटी क्रिकेट का जारी सत्र उनके खेल का आखिरी पड़ाव होगा।
इस तरह की अपने संन्यास की घोषणा

“ये सच है कि लोग कहते हैं कि आप जानते हैं कि कौन सा समय सही है, और दुर्भाग्य से, मेरा समय आ गया है। हालांकि मेरी खेल के लिये भूख और उत्साह दोनो ही आज भी बेहद मजबूत है लेकिन खेल की माँग के अनुरूप मेरा शरीर अब उस स्तर पर खरा नही है जिसकी मै स्वयं से उम्मीद करता हूँ।”

बेल का अन्तर्राष्ट्रीय करियर

अपने अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आगाज़ बेल ने 2004 मे ओवल मे वेस्ट इंडीज के विरुद्ध टेस्ट सिरीज़ से किया।
बेल ने कुल 118 टेस्ट मैचों की 205 पारियों मे 42.69 की औसत और 49.46 के स्ट्राइक रेट से कुल 7727 रन बनायें। इसमे 22 शतक और 46 अर्धशतक शामिल रहें। भारत के विरुद्ध 2011 के टेस्ट सिरीज़ मे बेल ने 235 रन बनाये जो टेस्ट मे उनका उच्चतम स्कोर रहा। बेल ने अपना आखिरी टेस्ट मैच 2015 मे पाकिस्तान के विरुद्ध शारजाह मे खेला।

एक दिवसीय क्रिकेट मे बेल का आगाज़ 2004 मे ही जिम्बाब्वे के खिलाफ मे हुआ। 2014 में श्रीलंका के खिलाफ अपना आखिरी एकदिवसीय क्रिकेट मैच खेलने वाले बेल तब तक 160 मैच खेल चुके थे। इनमे बेल ने 157 पारियों मे 37.87 की औसत और 77.16 की स्ट्राइक रेट से कुल 5416 रन बनाये। एकदिवसीय क्रिकेट मे बेल ने कुल 4 शतक और 35 अर्धशतक जड़े। एकदिवसीय क्रिकेट मे ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 2015 मे ओवल मे 141 रन उनका उच्चतम स्कोर रहा।

क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप टी-20 में हालांकि बेल को ज्यादा मौके नही मिले और 2006 से 2014 के दौरान बेल ने 8 मैच खेलकर 188 रन बनाये। इसमे भी बेल ने 1 अर्धशतक लगाया और उनका उच्चतम स्कोर रहा 60 रन।

बेल से जुड़ी खास बातें

• इयान बेल ने अपने पदार्पण टेस्ट और एकदिवसीय दोनों ही मैचों मे अर्धशतक लगाया।

• काउंटी क्रिकेट के 2005 के सत्र मे सिर्फ अप्रैल महीने मे ही बेल ने 480 रन बनाकर ग्रीम हिक का 17 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया।

• 2005 एशेज के लॉर्ड्स टेस्ट मे आउट होने से ठीक पहले बेल का टेस्ट औसत 303 का हो गया जो किसी भी खिलाड़ी के सर्वकालिक करियर के दौरान किसी भी समय का छठवां उच्चतम औसत था।

• 2006 मे इंग्लैंड की मेजबानी मे पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई सिरीज़ मे बेल ने लगातार पहले तीन टेस्ट मे शतक लगाये। इंग्लैंड के लिये ऐसा करने वाले ग्राहम गूच के बाद वे दूसरे खिलाड़ी बने।

• 2008 मे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मे बेल 199 पर आउट हो गये और ऐसे मे 199 के स्कोर पर आउट होने वाले बेल पहले इंग्लिश क्रिकेटर बने।

• 2009 के चौथे एशेज टेस्ट की दोनो पारियों मे इंग्लैंड की तरफ से बल्लेबाजी करते हुए रवि बोपारा-तीसरे, इयान बेल-चौथे और पॉल कॉलिन्गवूड-पांचवें नम्बर पर दोनो ही पारियों मे दहाई का आंकड़ा नही छू पाये। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास मे ऐसा पहली बार हुआ जब किसी टीम का मध्यक्रम दोनो ही पारियों मे व्यक्तिगत रूप से दहाई के आंकड़े तक नही पहुँच पाया।

• 2007 मे वेस्टइंडीज के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट मे इयान बेल, एलिस्टेयर कुक, पॉल कॉलिन्गवुड और मैट प्रायर मे शतक लगाये। इंग्लैंड के लिये एक ही टेस्ट की एक पारी मे चार अलग-अलग शतक 1938 के बाद पहली बार लगे।

• 2005 एशेज के चेस्टर-ली-स्ट्रीट टेस्ट मे बेल ने लंच से पहले ही शतक पूरा कर लिया। लेज्ली एम्स,1935 के बाद बेल ऐसा करने वाले पहले इंग्लिश बल्लेबाज थे।

• बेल अपने करियर के दौरान पाँच बार एशेज विजेता टीम मे शामिल रहें। बेल से पहले 133 वर्ष के तत्कालीन एशेज इतिहास मे इंग्लैंड की तरफ से केवल इयान बॉथम और विल्फ्रेड रोड्स ही पाँच बार एशेज विजेता टीम मे शामिल रहे हैं।

2011 का विवादित रन आउट

भारत के खिलाफ ट्रेंट-ब्रिज टेस्ट के तीसरे दिन चाय से ठीक पहले 66वें ओवर की आखिरी गेंद को इयान मॉर्गन ने डीप स्क्वैयर लेग पर फ्लिक किया। वहाँ मौजूद प्रवीण कुमार गेंद को पकड़ने मे लड़खड़ा गये। अब तक मॉर्गन और बेल ने दो रन ले लिया था और वो तीसरे रन के बीच मे ही ये सोच कर रुक गये कि ये चौका हो गया होगा। बाद मे प्रवीण ने गेंद को अभिनव मुकुंद की तरफ फेंका और अभिनव ने गिल्लियाँ बिखेर कर अपील कर दी। कुल आठ मिनट के रीप्ले के बाद अम्पायर ने बेल को रन आउट करार दिया।

वापस लौटते समय दर्शकों ने भारतीय टीम की खूब हूटिंग की। बाद मे दोनो टीमों की प्रबंधन कुशलता और द्रविड़-धोनी की उदारता के कारण भारतीय टीम ने अपील वापस ले लिया और चाय के बाद बेल को खेलने के लिये वापस बुला लिया। 137 रन के स्कोर पर लौटने वाले बेल ने दोबारा आकर 235 रन बनाये जो टेस्ट मे उनका उच्चतम स्कोर भी रहा।

~~ANSHU MISHRA

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: