भारत ने नेपाल को दी दो ट्रेनों की सौगात, भारत-नेपाल रेल सेवा फिर शुरु होने की उम्मीद

भारतीय कोंकण रेलवे डिवीजन ने नेपाल रेल को कोच सहित दो ट्रेनें दी, बिहार के जयनगर और नेपाल के जनकपुर के रेलवे लिंक से शुरु होगी क्रॉस-बॉर्डर रेल सेवा

0

भारत अपने पड़ोसी देशों के साथ हर संकट की घड़ी मे उनके साथ खड़ा रहता है। ऐसे मे नेपाल के बेवजह सीमा विवाद कायम रखने के बावजूद भारत ने अपने सबसे प्रिय पड़ोसी और छोटे भाई के समान नेपाल को 2 सेट DEMU ट्रेनों की सौगात दी। इन दोनो ट्रेनों मे इंजन के साथ 5 कोच भी हैं। इसके बाद नेपाल 6 वर्षों के प्रयास के बाद अब ब्रॉड गेज लाईन का परीक्षण कर रहा है।

भारत से रेलवे इंजन और कोच खरीदने के बाद नेपाल ने शुक्रवार को अपनी पहली ‘ब्रॉड-गेज रेलवे सेवा’ का ट्रायल रन कराना शुरू किया। नेपाल रेलवे को ‘नैरो-गेज रेलवे’ को ‘ब्रॉड-गेड’ में अपग्रेड करने मे 6 साल का समय लगा। अब अपग्रेड हो जाने के बाद नेपाल मे दैशिन-तिहाड़ रूट पर रेल संचालन शुरु होने की उम्मीद है।

 

ICF चेन्नई ने बनाई हैं ट्रेनें

नेपाल को ये ट्रेनें उपलब्ध कराने वाले कोंकण रेलवे ने शुक्रवार को कहा कि उसने नेपाल रेलवे को जो दो Diesel Electrical Multiple Unit (DEMU) ट्रेन सेट दिये हैं वो चेन्नई के इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) मे डिज़ाइन और विकसित किए गये हैं।

आपको बता दें कि प्रत्येक सेट में 5 कोच हैं। इनमें से एक AC जबकि बाकी जनरल कोच हैं। 5 बोगियों को मिलाकर यह इंजन एक समय में 1300 यात्रियों को ढो सकता है।

 

पिछले वर्ष ही हुआ था समझौता

पिछले वर्ष 10 मई को कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने नेपाल के रेलवे विभाग के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इस समझौते के तहत नेपाल रेलवे को 1600HP की दो डेमू ट्रेन सेटों की आपूर्ति की जानी थी। ट्रेन सौपने के बाद कोंकण रेलवे ने कहा कि नेपाल रेलवे को आज दो आधुनिक DEMU ट्रेन सेट देने मे हमे खुशी महसूस हो रही है।

आपको बता दें कि नेपाल के रेलवे विभाग ने कोंकण भारत से 84 करोड़ 65 लाख रूपये मे रेल इंजन और कोच खरीदे हैं।

 

फिर से शुरु होगी भारत-नेपाल रेल सेवा

भारत-नेपाल विकास साझेदारी कार्यक्रम के तहत भारत सरकार से वित्तीय अनुदान के साथ Indian Railway Construction Company Limited (IRCON) द्वारा 34 किलोमीटर लंबे जयनगर-कुरथा रेलवे लिंक का निर्माण किया गया है।

कुर्था से महतारी के बिजलापुर तक 17 किलोमीटर लम्बे रेलवे ट्रैक के विस्तार का काम चल रहा है। इस रेल संचालन के शुरु होने के साथ ही भारत और नेपाल के बीच जनकपुर-जयनगर रेलवे लिंक के रूप मे पहला ट्रांस-बॉर्डर रेलवे कनेक्शन फिर से स्थापित हो जायेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.