MP Khargone Violence: खरगोन हिंसा के बाद आरोपियों के खिलाफ प्रशासन ने की कार्रवाई, चलाया गया बुलडोजर

MP Khargone Violence: अवैध बने 16 मकानों और 29 दुकानों पर चला बुलडोजर

0

MP Khargone Violence: रामनवमी के मौके पर मध्यप्रदेश में हुई हिंसा के मामले में हिंसा के आरोपियों पर मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। आपको बता दें, मध्यप्रदेश के खरगोन शहर में रामनवमी के दिन निकाले गए जुलूस पर पथराव किया गया था। जिसके बाद उत्तर प्रदेश की तर्ज पर ही मध्यप्रदेश प्रशासन ने पथराव करने वाले सभी आरोपियों के अवैध बने घरों पर बुलडोजर चलवा दिया है। इतना ही नहीं बीते सोमवार को जिस जिस अवैध निर्माण पर प्रशासन ने बुलडोजर चलवाया था उनमें से एक घर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बना था। दूसरी ओर शिवराज सरकार के बुलडोजर वाले एक्शन से मध्यप्रदेश सरकार विपक्ष के निशाने पर है।

ये भी पढ़ें- FIR Filed Against Karnataka Minister: भ्रष्टाचार और फ्रॉड के आरोप में फंसे कर्नाटक के मंत्री ईश्वरप्पा, FIR दर्ज

MP Khargone Violence: हिंसा में 2 दर्जन से अधिक लोग घायल हुए थे

आपको बता दें, मध्यप्रदेश के खरगोन में रामनवमी के मौके पर निकाली गई जुलूस पर कुछ अज्ञात लोगों ने पथराव कर दिया था। इस पथराव में जुलूस में शामिल करीब 2 दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए थे। उस पथराव में खरगोन के एसपी सिद्धार्थ चौधरी भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने पथराव करने वाले सभी आरोपियों की पहचान कर उनके अवैध बने घरों पर बुलडोजर चलवा दिया था।

MP Khargone Violence: 16 मकानों और 29 दुकानों पर चला बुलडोजर

MP Khargone Violence
MP Khargone Violence

जिला प्रशासन ने खरगोन में अवैध तरीके से बने 16 मकानों और 29 दुकानों पर बुलडोजर चलवा दिया था। बताया जा रहा है कि गिरवाए गए अवैध निर्माण में बिरला मार्ग पर स्थित एक मकारन प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाया गया था। आपको बता दें, अवैध निर्माण के तहत गिरवाए गए  12 मकान खसखासवाडी इलाके में आते थे।

MP Khargone Violence: ”आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा”- सीएम शिवराज

MP Khargone Violence
MP Khargone Violence

रामनवमी के मौके पर खरगोन में हुई हिंसा के बाद शहर के कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया था। करीब 50 से 60 आरोपियों को हिरासत में भी लिया गया था। हिंसा के बाद मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक बयान भी जारी हुआ था जिसमें सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि किसी भी दंगाई को बख्शा नहीं जाएगा। जो भी नुकसान हुआ है उसकी दंगाइयों से वसूली की जाएगी। साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा था कि पथलाव और दंगे में नष्ट हुई सार्वजनिक के साथ साथ निजी संपत्ति की भी वसूली दंगाइयों से ही की जाएगी।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.