मां-बेटी के आत्मदाह के प्रयास पर मायावती ने कहा गंभीर हो सरकार

जमीन विवाद मामले में न्याय न मिलने पर किया था आत्मदाह का प्रयास

0
Lucknow: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh)  के अमेठी (Amethi) में जमीन विवाद मामले में मां-बेटी (Mother-Daughter) को लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय (CM Office) के सामने आत्मदाह (Self-immolation) को लेकर बसपा (BSP) प्रमुख मायावती Mayawati ने प्रदेश सरकार से इस मामले पर तत्काल गंभीर होने के साथ लापरवाह अफसरों पर कार्रवाई की मांग की है।

मायावती ने शनिवार को ट्वीटर (Twitter)  के माध्यम से लिखा कि “जमीन विवाद प्रकरण में अमेठी जिला प्रशासन से न्याय न मिलने पर मां-बेटी को लखनऊ में सीएम कार्यालय के सामने आत्मदाह करने को मजबूर होना पड़ा। यूपी सरकार ( UP GOVERNMENT) इस घटना को गम्भीरता से ले तथा पीड़ित को न्याय दे व लापरवाह अफसरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे ताकि ऐसी घटना फिर से न हों।”

बता दें कि अमेठी के जामो थानाक्षेत्र की रहने वाली महिला और उनकी बेटी ने शुक्रवार शाम को लोकभवन (Lokbhawan) के सामने मिट्टी का तेल उड़ेलकर आत्मदाह करने की कोशिश की। आग की लपटों में घिरी महिला वहीं गिर गई, जबकि उनकी बेटी आग की लपटों में घिरकर सड़क पर दौड़ने लगी।

सूचना मिलते ही पुलिस ने दोनों के शरीर पर कंबल डालकर आग बुझाई और सिविल अस्पताल (Civil Hospital) में भर्ती कराया।
दोनों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक अमेठी के जामो की रहने वाली दोनों का जमीन का विवाद है। इस मामले में जामो थाने में मारपीट व छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज हुआ था। दोनों ने प्रशासन व पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था नवीन अरोरा के मुताबिक मां-बेटी अमेठी के जामो की रहने वाली हैं। वहां कुछ लोगों से नाली का विवाद था। इसे लेकर मारपीट हुई थी। बेटी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया था। दोनों वहां की पुलिस व प्रशासन पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार शाम को लोकभवन के सामने आत्मदाह का प्रयास किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: