राजभवन घेरने जा रहे किसान नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा

नए कृषि कानून को लेकर दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के बीच आज किसान यूनियन ने राजभवन को घेरने की योजना थी।

0
नए कृषि कानून को लेकर दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के बीच आज किसान यूनियन ने राजभवन को घेरने की योजना थी। बातचीत के बाद किसानों के 12 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने किसान नेता हरनाम सिंह के नेतृत्व में शनिवार को राजभवन में प्रदेश के राज्यपाल से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन सौंपा।
किसानों ने राज्यपाल से कहा कि तीनों कृषि कानून अन्नदाता के हित में नहीं हैं। इन्हें वापस लिया जाना चाहिए। इस दौरान प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश और लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर भी राजभवन में मौजूद थे।

इसके पहले, लखनऊ में किसान राजभवन घेरने के लिए निकले तो पुलिस ने बनी के पास बल्ली लगाकर उन्हें रोक दिया। इस दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। उन्नाव-लखनऊ सीमा के बीच पुलिस बल तैनात कर दिया गया। दुबग्गा के नजदीक पहुंचे किसानों को पुलिसकर्मियों ने समझाने की कोशिश की और उन्हें वहीं रोक दिया।

लखनऊ के साथ ही जिलों के बॉर्डर पर गहन चेकिंग अभियान चलाया गया, जबकि राजभवन के भी हर गेट पर भारी पुलिस बल तैनात रहा।

किसान नेताओं ने शनिवार को कृषि कानूनों के खिलाफ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से भेंट करने का कार्यक्रम बनाया था। इसको बाद में राजभवन घेराव का रूप दिया जाने लगा। किसान नेताओं की इस योजना की जानकारी होने के बाद प्रदेश सरकार हाई अलर्ट पर आ गई।

राजभवन के हर गेट पर सुरक्षा बल तैनात किया गया है। सरकार की इस तैयारी के बाद किसान बैकफुट पर आ गए। किसान राजभवन एडीएम, डीसीपी, एडीसीपी के साथ पहुंचे हैं।

इसके बाद हरनाम सिंह के नेतृत्व में किसानों के 12 सदस्यीय एक दल का राजभवन आने का कार्यक्रम फाइनल हो गया। इसके बाद किसानों ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा।

हरनाम सिंह ने कहा कि, हमारा किसी प्रकार टकराव करने का कार्यक्रम नहीं था। पूरे देश में आज राजभवन में ज्ञापन देने का कार्यक्रम था। इसी के तहत एकत्रित हुए थे। हमने राज्यपाल से तीनों नए कानून वापस करने की मांग उठाई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: