मऊ में मुख्यमंत्री योगी का ऐलान, बाढ़ की समस्या का देंगे स्थाई हल

मुख्यमंत्री ने जनसभा में कहा कि नदियों को एक व्यवस्थित चैनल देने की तैयारी है, ताकि वह अपने मार्ग से बह सकें। उन्होंने मऊ के विकास के लिए 136 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया।

0
लखनऊ: पूर्वाचल को एक से दो साल में बाढ़ की समस्या से स्थाई निदान मिल जाएगा। जल शक्ति विभाग 15 जनवरी 2021 से बाढ़ प्रभावित इन संवदेशनील इलाकों में समस्या का स्थाई निदान शुरू करने जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को मऊ में यह घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने जनसभा में कहा कि नदियों को एक व्यवस्थित चैनल देने की तैयारी है, ताकि वह अपने मार्ग से बह सकें। उन्होंने मऊ के विकास के लिए 136 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मऊ ने अनेक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व राजनेता दिए हैं। यह परियोजनाएं उनको ही समर्पित हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, किसान व महिलाओं को सुरक्षा देना सरकार की प्राथमिकता में शामिल है। सरकार उत्तर प्रदेश को सबसे बड़े विकसित प्रदेश के रूप में बनाने का काम कर रही है। 6 से 4 लेन की सड़कों की प्रदेशवासी पहले कल्पना करते थे, लेकिन Prime Minister नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने इस परिकल्पना को साकार करके दिखाया है।

पूर्वाचल एक्सप्रेस वे विकास की रीढ़ साबित होगा। एक्सप्रेस वे बनने के बाद पूर्वाचल के युवाओं को रोजगार के लिए अपना शहर छोड़कर कहीं जाना नहीं पड़ेगा। उनको अपने ही जिले में रोजगार मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, पहले लोग आजमगढ़ का नाम लेने से डरते थे, लेकिन आज आजमगढ़ में राज्य विश्वविद्यालय व एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है। यहां के लोगों को हवाई यात्रा के लिए लखनऊ व बनारस नहीं जाना पड़ेगा।

बल्कि वह एक घंटे की दूरी तय करके अपने ही शहर से देश के किसी भी कोने की फ्लाइट पकड़ सकेंगे। बुंदेलखंड व विंध्य क्षेत्र के आर्सेनिक व फ्लोराइड प्रभावित इलाकों में स्वच्छ जल पेय योजना के तहत साफ पानी दिए जाने की कार्ययोजना अमली जमा पहन रही है।
उन्होंने कहा कि, तीनों कृषि कानूनों से किसानों की आय में बढ़ोत्तरी होगी। उनको बिचौलियों से मुक्ति मिलेगी, लेकिन बहुत सारे लोग इसका विरोध कर रहे हैं। कृषि कानून से मंडिया बंद नहीं होंगी। कांट्रैक्ट खेती से किसानों की जमीन पर कब्जा होने की बात अफवाह है। जो भी कब्जा करने की कोशिश करेगा वह अपनी दुर्गति देख लेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, Prime Minister नरेंद्र मोदी ने पिछले 6 सालों में किसानों के लिए जो काम किए हैं, वह अविस्मरणीय हैं। किसान सम्मान निधि से देश भर के किसानों को सालाना 6 हजार रुपए तीन किस्तों में दिए जा रहे हैं। Prime Minister 25 दिसम्बर को देश के 9 करोड़ किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि का 18 हजार करोड़ रुपए भेजेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि साढ़े तीन सालों में प्रदेश के किसानों को 1 लाख 12 हजार करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है।

योगी ने कहा कि, स्वयं सहायता समूह के जरिए महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का काम किया जा रहा है। 97 हजार से अधिक महिला समूह को 400 करोड़ रुपए की राशि रिवालविंग फंड से दी गई है। इससे वह अपने ही गांव में ओडीओपी समेत अन्य चीजों से जुड़कर स्वावलंबी बन सकेंगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि, पिछली सरकारों ने मिलों को बंद करके उनकी जमीनों को औने-पौने दामों पर बेचने का काम किया है। 2017 में भाजपा सरकार बनने के बाद बंद कारखानों को चालू करने का काम किया गया। इससे युवाओं को रोजगार मिला।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, शासन को निर्देश दिए गए हैं कि गरीबों को ठंड से बचाने के लिए उनको मोटे कंबल वितरित किए जाएं। यह गर्म कंबल भी प्रदेश के कारखानों में ही बनाए जा रहे हैं, जो पिछली सरकारों ने बंद करा दिए थे। पिछली सरकारों में नौकरी और योजनाओं के लाभ चेहरे देख कर दिए जाते थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: