अंडमान के 10 जनजातीय कबीले हुए कोरोना संक्रमित

देश की इस दुर्लभ जनजाति की आबादी 50, 10 को हुआ कोरोना

0

CORONA VIRUS UPDATE: भारत में कोरोना संक्रमण के मामले काफी तेजी से बढ़ते जा रहे हैं । प्रकृति के गोद में रह रहे जनजातीय कबीले भी अब सुरक्षित नहीं रहे। देश के सुदूर इलाकों में रहने वाले जनजातियों के बीच भी बढ़ता कोरोना संक्रमण चिंताजनक है ।

पिछले एक महीने में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह ( Andaman and Nicobar Island) में रहने वाली एक दुर्लभ जनजाति के कुल 50 सदस्यों में से 10 सदस्यों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। मुख्य सचिव सचिन संघी( Sachin Sanghi) ने बताया कि मानवता के विरासत स्वरूप जनजातियों को बचाने के लिए राहत कार्य किए जा रहे हैं

ग्रेट अंडमानीज ( Great Andamanese ) जनजाति के चार सदस्य इस सप्ताह संक्रमित हुए हैं । इन चार सदस्यों में से दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके अलावा दो अन्य लोग एक कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट किए गए हैं। कोरोना से संक्रमित हुए ये लोग उस जनजाति के हैं, जिसके सिर्फ 50 लोग ही बचे हैं और छोटे स्ट्रेट द्वीप( Small Street Island ) पर रहते हैं । सरकार उनके भोजन और आश्रय की देखभाल करती है।

ग्रेट अंडमानीज जनजाति कबीले में कोरोना मामले मिलने के बाद अब प्रशासन ने बाकी कबीलों में भी टेस्ट शुरू कर दिए हैं। बता दें कि चार लाख की आबादी वाले अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में अब तक 2,268 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित है और वहीं अब तक वहां 37 लोगों की मौत हो चुकी है।

अंडमान में रहते जनजातियों में जारवा(Jarawas) , नॉर्थ सेंटलिज( North Sentinelese), ग्रेट अंडमानीज (Great Andamanese) , ओंज और सोंफन ( Onge and Shompen) इत्यादि प्रमुख हैं । महामारी और बढ़ते स्वास्थ्य समस्याओं से इनका तेजी से विलुप्तीकरण हो रहा है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: