धूप में समय बिताने से थकान होती है- शोध

0

शोधकर्ताओं का कहना है कि हल्का निर्जलीकरण भी मूड स्विंग्स के साथ थकान की भावनाओं को ट्रिगर कर सकता है। धूप में बैठना बिना कोई काम किए भी शरीर के लिए मेहनत करने के समान है।

त्वचा विशेषज्ञ हीथर डी. रोजर्स का कहना है कि तापमान में मामूली बदलाव भी शरीर को प्रभावित करता है जो कार्यों को प्रभावित करता है। ऐसे में शरीर पसीने के जरिए तापमान संतुलन बनाए रखने का काम करता है।


जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक धूप में ज्यादा समय बिताने से शरीर डिहाइड्रेट हो सकता है, जिससे आप थक सकते हैं।


इस तरह आपका शरीर बाहर से ज्यादा आंतरिक स्तर पर काम करता है, इसलिए आपको थकान और नींद आने लगती है। शरीर की यह थकान एक सामान्य बात है जो आमतौर पर समुद्र तट से लौटने पर तब देखी जाती है जब शरीर पानी की कमी के कारण थक जाता है।

जानकारों का कहना है कि एक अनुमान के मुताबिक आपको दिन में 8 गिलास पानी पीना चाहिए, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सभी लोग शरीर में बताई गई मात्रा में पानी पीने से पानी की जरूरत को पूरा कर सकते हैं।

जो लोग धूप में काम करते हैं उन्हें पूरे दिन घर के अंदर बिताने वाले लोगों की तुलना में अधिक पानी पीने की जरूरत होती है।

साथ ही किचन में काम करने वाले लोगों को भी पानी का इस्तेमाल बढ़ाना चाहिए क्योंकि किचन का तापमान ज्यादा होता है जिससे पानी की कमी हो सकती है।

हालांकि यह महत्वपूर्ण है कि व्यस्त दिन के अंत में सामान्य थकान और गर्मी की थकावट के बीच बहुत स्पष्ट अंतर है। गर्मी की थकावट में शरीर आंतरिक तापमान को नियंत्रित करने के लिए शरीर के पानी को त्वचा की सतह पर लाता है। इस प्रकार थकान के साथ-साथ नाड़ी तेज हो जाती है और नींद या बेहोशी का अहसास होता है, जो सभी गर्मी की थकावट के लक्षण हैं।

ऐसे में ठंडी जगह पर जाएं, ठंडे पानी का इस्तेमाल करें, अगर लक्षण बने रहें तो डॉक्टर से संपर्क करें। धूप में समय बिताने से बचने की कोशिश करें, यदि आवश्यक हो तो छाया में चलें और स्वस्थ रहने के लिए खूब पानी पिएं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.