केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर राजनीतिक गलियारे में मातम

राष्ट्रपति प्रधानमंत्री और गृह मंत्री समेत दिग्गज नेताओं ने दी श्रद्धांजलि, किया याद।

0
आपातकाल से लेकर उदारीकरण और डिजिटलीकरण तक के सफर को बेहद करीब से देखने वाले केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के निधन की खबर से आज पूरा देश और बिहार आहत है। रामविलास पासवान पिछले छह प्रधानमंत्रियों की कैबिनेट में बतौर मंत्री रहे थे। कहा जा रहा था कि सरकार चाहे किसी की हो उन्हें मंत्रालय मिलना तय था। बुधवार की शाम उनके निधन पर पूरा देश शोकमग्न है।

उनके निधन की खबर श्रद्धांजलि देने और उनके साथ बिताए समय को याद करने का सिलसिला शुरू हो गया। देश के राष्ट्रपति प्रधानमंत्री गृहमंत्री समेत कई राज्यों के मुख्यमंत्री और दिग्गज नेताओं ने ट्वीट कर अपनी भावनाएं अर्पित की।

ट्वीट का सिलसिला

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर लिखा कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने एक दूरदर्शी नेता को दिया है। उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय तथा सबसे लंबे समय तक जनसेवा करने वाले सांसदों में की जाती है। वे वंचित वर्गों की आवाज मुखर करने वाले तथा हाशिए के लोगों के साथ सतत संघर्षरत  रहने वाले जनसेवक थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर अपनी भावनाएं जाहिर की। उन्होंने लिखा कि आपके कंधे से कंधा मिलाकर काम करना अतुलनीय अनुभव रहा। कैबिनेट बैठक के दौरान आपकी भागीदारी दूरदर्शी थी। राजनीतिक विवेक से लेकर शासकीय मामलों तक में आप विद्वान थे। ईश्वर आपके परिवार को इस दुख से बाहर निकालने की शक्ति प्रदान करें।

उन्होंने रामविलास पासवान के छूने से उठकर राजनीति के शीर्ष तक पहुंचने के सफर पर भी प्रकाश डाला। लिखा कि रामविलास जी राजनीति में अपनी मेहनत और दृढ़ संकल्प से उठे थे। रामविलास पासवान का मुख्य योगदान या यूं कह लें कि राजनीति में एंट्री आपात काल के दौरान हुए छात्र आंदोलन से हुई थी। प्रधानमंत्री ने उसका भी जिक्र किया।

प्रधानमंत्री ने उनके जाने को व्यक्तिगत क्षति बताई। कहा कि उनकी कमी को कोई भी पूरा नहीं कर सकता। आज मैंने एक मित्र और सहकर्मी के साथ-साथ ऐसा व्यक्ति खोया जो हमेशा गरीबों को सम्मानजनक जीवन देना चाहते थे।

गृह मंत्री अमित शाह ने भी अपनी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भारतीय राजनीति व केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनकी कमी सदैव बनी रहेगी। मोदी सरकार उनके गरीब कल्याण व बिहार के विकास को संपन्न करने के लिए प्रतिबद्ध रहेगी।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी दुख प्रकट किया। उन्होंने लिखा कि उनके असमय निधन का समाचार दुखद है। गरीब दलित वर्ग में आज अपनी बुलंद आवाज खो दी है। इसके अलावा बिहार का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए, परिवार के प्रति सहानुभूति जताई।

इसके अलावा जम्मू कश्मीर के लेफ्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा, राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, शशि थरूर और भी बड़े नेता अपनी अपनी भावनाओं के जरिए श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: