अवसाद से निजात दिलाने में मदद करेगा’मनोदर्पण’

छात्र-छात्राओं, शिक्षकों के साथ अभिभावक भी होंगे लाभांवित

0

DELHI: कोरोना संक्रमण के चलते पूरे देश में स्कूल कॉलेज बंद हैं। 12वीं के नतीजे घोषित होने के बाद छात्रों को कॉलेज में एडमिशन लेना  है। बढ़ते संक्रमण के कारण एडमिशन प्रक्रिया धीमी रफ्तार से चल रही है जिससे छात्र-छात्राओं में मानसिक परेशानियां साफ देखी जा रही हैं। इसी से निजात पाने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा ‘‘मनोदर्पण’’  कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। इसमें ऐसे कई रचनात्मक कार्य एवं सुझाव हैं जिससे विद्यार्थियों को मानसिक तनाव से बाहर निकलने में मदद मिलेगी।

स्कूल से लेकर कॉलेज तक के विद्यार्थी इस कार्यकम का लाभ उठा सकते हैं। मनोदर्पण की लॉन्चिंग के बाद अधिकारियों ने कहा, ‘बच्चे और किशोर अधिक संवेदनशील होते हैं और तनाव, चिंता और भय के बढ़े स्तर का अनुभव कर सकते है। इस तरह के अप्रत्याशित और अचानक बदलाव को सभी शैक्षिक मंचों से संबोधित करने की आवश्यकता होगी। इसलिए, शिक्षकों के साथ-साथ परिवार के सदस्यों के सहानुभूतिपूर्ण और धैर्यशील दृष्टिकोण से बच्चों और किशोरों की ऐसी समस्याओं को दूर किया जा सकता है।’

इससे पहले सोमवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने ट्वीट कर कहा था कि अब परीक्षा के नतीजे आ गए हैं और दाखिले का सिलसिला शुरू होने वाला है। ऐसे में वह कोरोना काल  में छात्रों की मनोवैज्ञानिक स्थिति को समझ सकते हैं। उनके तनाव को सुधारने के लिए कल सुबह 11:00 बजे वह डिजिटल प्लेटफॉर्म  ‘मनोदर्पण’ लॉन्च करेंगे। प्लेटफार्म पर छात्रों को अभी मनोवैज्ञानिक समस्याओं को सुलझाने के लिए हरतरह की सहायता मिल सकेगी ताकि इस समय होने वाली समस्याओं को लेकर तनाव की स्थिति से ना गुजरें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: