बिहार चुनाव : बुधवार को 71 सीटों पर 1,066 प्रत्याशियों के भविष्य का होगा फैसला

पहले चरण के चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के अलावे आठ मंत्री प्रेम कुमार, कृष्णनंदन वर्मा, शैलेश कुमार, विजय कुमार सिन्हा, जय कुमार सिंह, रामनारायण मंडल, संतेाष कुमार निराला तथा बृजकिशोर बिंद सहित कई दिग्गज चुनावी मैदान में हैं।

0
पटना: बिहार में विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में बुधवार को 71 विधानसभा क्षेत्र के करीब 2.14 करोड़ मतदाता 1,066 प्रत्याशियों के राजनीतिक भविष्य का फैसला करेंगे।
प्रथम चरण के चुनाव में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेतृत्व राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और विपक्षी दलो के महगठबंधन के बीच माना जा रहा है, लेकिन कुछ क्षेत्रों में अन्य राजनीतिक दल और निर्दलीय प्रत्याशी मुकाबले को त्रिकोणात्मक भी बनाने के प्रयास में हैं।

बिहार में प्रथम चरण में 2.14 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनके लिए 31,380 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। राज्य निर्वाचन आयोग के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के जवानों की तैनाती की जा रही है।

उन्होंने बताया कि इस चरण में सबसे अधिक गया में 27 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं, जबकि सबसे कम पांच प्रत्याशी बरबीघा में हैं।

चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश के अनुसार, सभी मतदान केंद्रों पर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए मतदान होगा। सभी मतदान केंद्रों पर एक हजार मतदाता मतदान में शामिल होंगे। मतदाताओं को मास्क, गमछा या तौलिया से मुंह ढककर मतदान के लिए जाना होगा। केंद्रों पर थर्मल थर्मामीटर से मतदाताओं के शरीर के तापमान की जांच होगी, उनके हाथ सेनिटाइज कराए जाएंगे और इसके बाद ग्लब्स पहनकर मतदान देना होगा।

प्रथम चरण में 1066 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इस चरण में कई हाइप्रोफाइल सीटें हैं और कई बड़े नेता मैदान में हैं। इस कारण यह उनके लिए प्रतिष्ठा का भी सवाल है।

पहले चरण के चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के अलावे आठ मंत्री प्रेम कुमार, कृष्णनंदन वर्मा, शैलेश कुमार, विजय कुमार सिन्हा, जय कुमार सिंह, रामनारायण मंडल, संतेाष कुमार निराला तथा बृजकिशोर बिंद सहित कई दिग्गज चुनावी मैदान में हैं।

प्रथम चरण के चुनाव में राजग की ओर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 29, जनता दल युनाइटेड के 35, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के छह और विकासशील इंसान पार्टी के एक प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, जबकि महागठबंधन में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के 42, कांग्रेस के 21 और भाकपा (माले) के आठ प्रत्याशी चुनावी समर में हैं।

इस चरण के मतदान के लिए मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए सभी राजनीतिक दलों ने पूरा जोर लगाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और एक दर्जनभर केंद्रीय मंत्रियों ने कई चुनावी सभा कर लोगों से राजग के पक्ष में मतदान करने की अपील की। महागठबंधन की ओर से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा राजद के नेता तेजस्वी यादव ने महागठबंधन प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार किया।

इस चुनावी दंगल में राजग से सीधी टक्कर विपक्षी दल के महागठबंधन से मानी जा रही है। भाजपा के नेतृत्व वाले राजग जदयू, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा, विकासशील इंसान पार्टी शामिल हैं, जबकि केंद्र में राजग की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) यहां अलग होकर चुनाव मैदान में है। इधर, महागठबंधन में राजद, कांग्रेस और वामपंथी दल शामिल हैं।

बिहार में विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है। इसके तहत प्रथम चरण के लिए 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर को 94 सीटों पर और तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को 78 सीटों के लिए मतदान होगा। वहीं वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: