West Bengal: बंगाल के नंदीग्राम में हुआ ममता बनर्जी पर हमला

ममता बनर्जी ने यह आरोप लगाया है की जब वह कार में सवार हो रही थी तब चार पांच लोगो ने उन्हें धक्का दे दिया, जिससे उनके पैर में गहरी चोट आई है।

0
West Bengal: बुधवार शाम 6:15 बजे पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए हो रहे प्रचार रैली के दौरान बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चार पांच लोगो ने धक्का दिया, जिससे उनके पैर में गहरी चोट आई है। यह घटना बिरूलिया अंचल मार्केट पर हुई। जब ममता बनर्जी रियापारा इलाके में एक मंदिर में प्रार्थना के बाद वहां से निकल रही थी। उसके बाद वह बिरूलिया जाने वाली थी।

 

West Bengal
बंगाल के नंदीग्राम में हुआ ममता बनर्जी पर हमला
ममता बनर्जी  ने यह आरोप लगाया है की जब वह कार में सवार हो रही थी तब चार पांच लोगो ने उन्हें धक्का दे दिया। और कार का दरवाजा उनके पैर लगने के कारण उनके पैर में चोट लग गई। चोट लगने की वजह से उनके पैर में सूजन आ गई और बुखार भी हो गया। उनके सुरक्षाकर्मी के द्वारा उन्हें कार की पीछे की सीट पर ले जाया गया। घटना के दौरान कोई स्थानीय पुलिसकर्मी वहां मौजूद नहीं था। उन्होंने सीने ने दर्द और सांस लेने में तकलीफ की भी शिकायत की है।

एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती है ममता बनर्जी :-

घटना के बाद ममता बनर्जी को कोलकाता ले जाया गया और स्ट्रेचर पर एसएसकेएम (SSKM) अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनके इलाज के लिए पांच वरिष्ठ डॉक्टरों की टीम (team) भेजी गई। बनर्जी को 48 के लिए डॉक्टरों की निगरानी ने रखा गया। उनके पर का एक्स-रे (X-Ray) और एमआरआई (MRI) भी हुआ। रिपोर्ट (Report) के मुताबिक उनके बाहिनी कोहनी, गर्दन, दाहिने कंधे, और बाह में गहरी चोट आई है। और उनके पैर में प्लास्टर (Plaster) चढ़ाया गया है।

West Bengal
एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती है ममता बनर्जी

सुरक्षा पर उठ रहे है सवाल:-

इस घटना के बाद सुरक्षा पर सवाल उठते नजर आए है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ‘जेड प्लस’ स्तर की सुरक्षा उपलब्ध है। फिर भी यह घटना मुख्यमंत्री के साथ घटी। राज्यपाल भी उनका हाल जानने अस्पताल पहुंचे।  ममता बनर्जी रात को नंदीग्राम में रुकने वाली थी परंतु घटना के बाद उन्हें कोलकाता (Kolkata) ही ले जाया गया।

नेताओं का क्या कहना है :-
टीएमसी (TMC) नेताओ का इस घटना के लिए पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अधीन रंजन चौधरी ने कहा की सहानुभूति हासिल करने के लिए इस तरह की तरकीब इस बार काम नहीं आयेगी। और उन्होंने यह भी कहा की ‘ममता बनर्जी राज्य की पुलिस मंत्री है और अगर वह सुरक्षित नहीं है तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए।’

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.