भ्रष्टाचार पर सीएम योगी सख्त, दो IPS अधिकारी निलंबित

कोरोड़ों के टेंडर घोटाले में दोने IPS अधिकारी थे शामिल

0

लखनऊ: कोरोना महामारी (CORONA) के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ((CM Yogi Adityanath) भ्रष्टाचार के खिलाफ (Against corruption) भी लड़ रहे हैं। इसी क्रम में उन्होंने भ्रष्टाचार के आरोप में दो IPS अफसरों को सोमवार को निलंबित कर दिया।

उत्तर प्रदेश के पशु पालन विभाग में करोड़ों के टेंडर घोटाले के आरोपी जेल में हैं। घोटाला करने वालों के मददगार दो वरिष्ठ आइपीएस अफसरों (Two senior IPS officers) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने निलंबित (suspend) कर दिया है। IPS अफसर दिनेश चंद्र दुबे और अरविंद सेन को पशु पालन घोटाले में शामिल लोगों की मदद करने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है।

यह दोनों अधिकारी प्रदेश में DIG पद पर तैनात हैं। IPS दिनेश चंद्र दुबे और अरविंद सेन पर वित्तीय अनियमितताओं के आरोप लगे थे, जिस पर कार्रवाई की गई है।

गृह विभाग ने बयान जारी कर इनके निलंबन की पुष्टि की है। दिनेश चंद्र दुबे (Dinesh Chandra Dubey) डीआईजी रूल्स एंड मैनुअल (DIG Rules & Manual) और अरविंद सेन (Arvind Sen) डीआईजी पीएसी आगरा जोन (DIG PAC Agra Zone ) के पद पर तैनात हैं। अरविंद सेन तत्कालीन एसपी सीबी सीआईडी थे। जिन पर आरोपियों के साथ मिलीभगत कर व्यापारी को धमकाने का आरोप है। दिनेश चंद्र दुबे पर एक शातिर अपराधी से 144 बार पैसे की लेनदेन को लेकर बातचीत का आरोप है। इसी आरोप में उनको निलंबित किया गया है।

गृह विभाग के अनुसार दिनेश चन्द्र दुबे के सम्बन्ध में यूपीसिडको नोडल एजेन्सी के अन्तर्गत कस्तूरबा हॉस्टल, शिवगढ, बछरावां, रायबरेली एवं सादाबाद में बिल्डिंग बनवाने का ठेका और बरेली एवं कौशाम्बी में बस अड्डा एवं लखनऊ में दिव्यांगो की बिल्डिंग बनवाने के ठेके दिलाने और उससे होने वाले लाभ सम्बन्धी शिकायत प्राप्त हुई थी। पुलिस उपमहानिरीक्षक, पीएसी अरविन्द सेन, पशुपालन विभाग में साजिशन ठगी किये जाने की शिकायत मिली हुई थी।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: