Yogi cabinet expansion : योगी मंत्रिमंडल में जल्द होगा विस्तार, जितिन प्रसाद और संजय निषाद का मंत्री बनना तय, जाने और कौन है कतार में

0

Yogi cabinet expansion : आगामी विधानसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार होने जा रहा है। मंत्रिमंडल विस्तार को चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। इसके लिए कई बार चर्चाएं पहले भी तेज हुईं हैं। कहा जा रहा है कि मंत्रिमंडल में शामिल की गई लिस्ट को यूपी चुनावों को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है। जितिन प्रसाद और संजय निषाद का मंत्री बनना तय माना जा रहा।

Yogi cabinet expansion

सूत्रों के अनुसार पिछले दिनों केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के घर पर हुई मीटिंग के बाद मंत्रिमंडल विस्तार (Yogi cabinet expansion) का रास्ता साफ हो गया है। योगी मंत्रिमंडल का ये तीसरा विस्तार होगा इससे पहले 22 अगस्त 2019 को आखिरी बार विस्तार किया गया था। उस समय योगी सरकार में 56 मंत्री थे। जिसमें से तीन मंत्रियों चेतन चौहान, कमलारानी वरुण राज्यमंत्री विजय कुमार कश्यप का कोरोना काल में निधन हो गया था।

Yogi cabinet expansion

Yogi cabinet expansion-जितिन प्रसाद और संजय निषाद का मंत्री बनना तय

वर्तमान में उत्तर प्रदेश सरकार में 23 कैबिनेट मंत्री, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार जबकि 21 राज्य मंत्री मिलाकर कुल (Yogi cabinet expansion) 53 मंत्री हैं। जबकि मंत्रिमंडल में 60 मंत्री हो सकते हैं। सूत्रों की माने तो योगी इस विस्तार में अपने मंत्रिमंडल की संख्या को पूरा करेंगे। बीजेपी के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक़, अगले 5 दिनों के भीतर उत्तर प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा।

ये भी पढ़ें-Gorakhpur News Updates: राष्ट्रपति आज देंगे गोरखपुर वासियों को दो विश्वविद्यालयों की सौगात

संभावित मंत्रियों की लिस्ट –

  1. जितिन प्रसाद- ब्राहम्ण चेहरा
  2. संजय निषाद- निषाद समुदाय
  3. सोमेंद्र गुर्जर- गुर्जर समुदाय
  4. संगीता बलवंत विंद- निषाद समुदाय
  5. राहुल कौल- ब्राहम्ण चेहरा
  6. तेजपाल नागर- गुर्जर समुदाय
  7. सहेंद्र रमाला- जाट समुदाय
  8. एमपी सेंथवार- पटेल समाज
  9. आशीष पटेल- पटेल समाज
  10. संजय गोंड- गोंड समुदाय
  11. मंजू सिवाच- जाट समुदाय

सूत्रों के अनुसार पहले लखनऊ में सरकार और संगठन की बैठक होगी। इसमें संभावित मंत्रियों (Yogi cabinet expansion) की सूची को अंतिम रूप दिया जाएगा। इसके बाद केंद्रीय नेतृत्व की सहमति ली जाएगी और अंतिम मुहर लगने के साथ ही मंत्रिमंडल विस्तार किया जा सकता है।

योगी सरकार की नीतियों और आदेशों के बारे में जानने के लिए यहं क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.