UP panchayat chunav: यूपी पंचायत चुनाव आरक्षण अधिसूचना जारी, जानिए कौन सा गांव रहेगा आरक्षित और कौन सामान्य

0

UP panchayat chunav: उत्तर प्रदेश में आगामी पंचायत चुनाव के लिए यूपी पंचायती राज ने आरक्षण नीति जारी कर दी है। अपर मुख्य सचिव पंचायती राज मनोज सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि 826 ब्लॉक , 58194 ग्राम पंचायतों में वॉर्डों की संख्या का गठन हो चुका है। पंचायत चुनाव में रोटेशन रिजर्वेशन लागू किया जाएगा, पिछले 5 निर्वाचन में हुए आरक्षण का संज्ञान लिया जाएगा।

यूपी पंचायत चुनाव (UP panchayat chunav) आरक्षण अधिसूचना जारी

अपर मुख्य सचिव पंचायती राज ने बताया कि जो पद पहले कभी आरक्षित नहीं हुए, उनको व‍रीयता दी जाएगी। पिछले चुनावों में एससी, ओबीसी, महिला क्रम को देखते हुए आरक्षण लागू किया जाएगा। शुक्रवार को जिला पंचायत अध्यक्षों और ब्लॉक प्रमुखों के पदों का आरक्षण ज़ारी किया जाएगा। इसके अलावा जिले स्तर पर ग्राम पंचायतों का आरक्षण ज़ारी किया जाएगा।

ये भी पढ़ें-यूपी पंचायत चुनाव के (UP panchayat chunav)लिए तय हुई नामांकन पत्रों की फीस

मनोज सिंह ने बताया कि(UP panchayat chunav) पूरे प्रदेश में 2 जिला पंचायत ऐसी थीं जो आज तक एससी और ओबीसी के लिए नहीं आरक्षित हुईं हैं। वहीं, 7 ऐसी जिला पंचायतें हैं, जो महिलाओं के लिए आरक्षित नहीं हुईं। पहले की तरह ही इस बार भी पंचायती चुनाव कराएं जाएंगे। 826 ब्लॉकों में जिलेवार किस श्रेणी में आरक्षण होगा, यह राज्य स्तर पर जारी किया जाएगा। साथ ही जिला पंचायतों की आरक्षण प्रक्रिया भी राज्य स्तर पर जारी होगी।

2015 में जो आरक्षण की स्थिति थी वो 2021 में नहीं मानी जाएगी

2 से 3 मार्च के बीच प्रधानों, ग्राम पंचायत, क्षेत्र व जिला पंचायत के आरक्षित प्रदेशिक आरक्षण निर्वाचन क्षेत्र के आवंटन की प्रस्‍तावित सूची का जिलाधिकारी द्वारार प्रकाशन किया जाएगा। इसके बाद 4 मार्च से लेकर 8 मार्च तक, 4 दिन में आपत्ति दर्ज कराई जा सकती है। जिसे भी आपत्ति करनी है लिखित आपत्ति दर्ज करानी पड़ेगी। फिर 10 से 12 मार्च के बीच आई हुई आपत्तियों का निस्‍तारण करते हुए अंतिम सूची तैयार की जाएगी।

826 ब्लॉकों में जिलेवार आरक्षण राज्य स्तर पर जारी किया जाएगा

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कई महत्वपूर्ण बातें की बताई गईं। पिछले पांच चुनावों में किन वर्गों के लिए सीटें आरक्षित रहीं इसका विशेष ध्यान दिया जाएगा । 2015 में जो आरक्षण की स्थिति थी वो 2021 में नहीं मानी जाएगी। जिला पंचायत अध्यक्ष एवं वार्ड मेंबर क्षेत्र पंचायत के सदस्य ग्राम प्रधान एवं उनके सदस्य सभी के सीटों का निर्धारण किया जा चुका है।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को GOOGLE NEWS पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: