शिक्षक दिवस पर राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित होंगे उत्तराखंड के 2 शिक्षक

बागेश्वर के डॉ केवलानंद कांडपाल और कालसी के एकलव्य रेजिडेंशियल स्कूल की वाइस प्रिंसिपल सुधा पैन्यूली होंगी सम्मानित

0

उत्तराखंड- 5 सितंबर को पूरे देश में शिक्षक दिवस मनाया जाता है और इसी मौके पर शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले हैं देशभर के शिक्षकों को सम्मानित भी किया जाता है। इस बार शिक्षक दिवस (Teachers Day) पर राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए देश भर से 47 शिक्षकों का चयन हुआ है। इस फेहरिस्त में उत्तराखंड के भी 2 शिक्षक हैं। जिसमें बागेश्वर (Bageshwar) के पुड़कुनी गवर्नमेंट हाई स्कूल के प्राचार्य डॉक्टर केवलानंद कांडपाल (Dr. Kevlanand Kandpal) और देहरादून Dehradun के कालसी ( Kalsi) के एकलव्य रेजिडेंशियल स्कूल (Eklavya Residential School) की वाइस प्रिंसिपल सुधा पैन्यूली (Sudha Panyuli) शामिल हैं।

सम्मानित होने वाले डॉक्टर केवलानंद कांडपाल 2017 में बागेश्वर जिले के दुर्गम क्षेत्र पुडकुनी गवर्नमेंट जूनियर हाईस्कूल (Pudkuni Government junior highschool) के प्रधानाचार्य बने थे। वहां उन्होंने लड़कियों की शिक्षा के लिए बहुत ही बेहतरीन कार्य किया। जो लड़कियां सालों पहले पढ़ाई छोड़ चुकी थी उन्होंने डॉ. केवलानंद कांडपाल के कहने पर और उनसे प्रभावित होकर दुबारा स्कूलों में अपना दाखिला कराया। डॉक्टर केवलानंद कांडपाल ने इस दौरान विद्यालय में मां-बेटी सम्मेलन (Maa Beti Sammelan) कराया और तरह-तरह के सांस्कृतिक गतिविधियां कराई जिससे बालिकाओं की शिक्षा में बहुत फर्क देखने को मिला।

इससे पहले डॉ केवलानंद कांडपाल डायट और बीडीसी को भी पढ़ा चुके हैं और वहां पर बहुत ही शानदार रिजल्ट रहा था। राष्ट्रपति पुरस्कार से पहले डॉक्टर केवलानंद कांडपाल को 2012 में शैलेश मटियानी पुरस्कार (Shailesh Matiyani Puraskar) भी मिल चुका है। उत्तराखंड के दोनों शिक्षकों की इस उपलब्धि पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Uttrakhand CM Trivendra Singh Rawat) ने भी उन्हें शुभकामना दी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: