जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं-प्रधानमंत्री मोदी

आज से शुरू हो रहा है संसद का मॉनसून सत्र

0
आज से संसद का मॉनसून सत्र (Monsoon Session) शुरू हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) संसद पहुंच चुके हैं। उन्होंने सदन के शुरू होने से पहले सभी सदस्यों को संबोधित किया।इस बीच उन्होंने कोरोना को ध्यान में रखते हुए नसीहत दी।साथ ही सदन की कार्यवाही में विघ्न डालने के लिए विपक्ष का सहयोग मांगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस मुश्किल दौर में सांसदों (MP) ने कर्तव्य पथ को चुना है। इसके लिए वह उन्हें धन्यवाद और बधाई भी दिए। मानसून सत्र की कार्यवाही के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि यह सत्र काफी अहम होने वाला है। इस सत्र में काफी महत्वपूर्ण फैसले और चर्चाएं होने वाली हैं। इसके लिए उन्होंने सभी का सहयोग भी मांगा। उन्होंने कहा कि सभी का अनुभव है इस सदन में जितनी गहरी चर्चा होती है उससे देश और संसद को फायदा होता है हम सब इस परंपरा को आगे बढ़ाएं।

इसके अलावा प्रधानमंत्री ने सीमा पर मुस्तैद सेना के जवानों का भी आवाहन किया। उन्होंने कहा कि हिम्मत, जज्बे और बुलंद हौसले के साथ हमारे जवान दुर्गम पहाड़ियों पर डटे हुए हैं। ऐसे समय में संसद से एक भाव और एक सुर में यह आवाज आनी चाहिए कि पूरा देश और सदन उनके साथ है।

वहीं कोरोना पर नसीहत देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जब तक दवाई नहीं आ जाती तब तक कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए।हम सभी चाहते हैं कि दुनिया में कोरोना वैक्सीन बने और इसके लिए हम सभी को साथ मिलकर प्रयास करना चाहिए।

किन बातों का रखना होगा ध्यान
  • संसद में आने वाले हर व्यक्ति को मास्क लगाने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य होगा।
  • सांसदों को संसद में प्रवेश करने के 72 घंटे पहले अपना कोविड-19 टेस्ट नेगेटिव रिपोर्ट लानी जरूरी है। इसके साथ उनके ड्राइवर और  सुरक्षा बलों की भी रिपोर्ट नेगेटिव होनी चाहिए।
  • संसद में पत्रकारों को किसी भी सांसद का बयान लेने की अनुमति नहीं होगी। वही मोबाइल फोन के जरिए लाइव टेलीकास्ट की भी अनुमति नहीं होगी।
ऐतिहासिक बातें

इस बार यह सत्र कई मायनों में ऐतिहासिक होगा। पहली बार एक सदन की बैठक में दोनों सदनों के चैम्बर और गैलरी का इस्तेमाल होने वाला है। वहीं दोनों सदनों में प्रश्नकाल नहीं होगा और शून्यकाल भी सीमित होगा। इस बार सत्र के दौरान 18 दिन लगातार कार्यवाही चलेगी। जिसमें कोई छुट्टी नहीं होगी।

आमतौर पर दोनों सदनों में एक साथ काम होता है लेकिन इस बार दो शिफ्ट में होगा। लोकसभा की कार्यवाही आज सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक चलेगी। वहीं राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 3 बजे से शाम 7 बजे चलेगी।

इसके बाद 15 सितंबर से 1 अक्टूबर तक लोकसभा दोपहर 3 बजे से शाम 7 बजे तक चलेगी। वहीं राज्यसभा सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक चलेगी।

सत्र को लेकर विपक्ष की तैयारी

एक तरफ जहां सरकार 47 विधेयक पेश करने की तैयारी कर चुकी है। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष ने भी साफ कर दिया है कि वह 4 विधेयकों का विरोध करेगी। इसके अलावा विपक्ष की तैयारी है कि वह अर्थव्यवस्था कोरोना चीनी घुसपैठ के मुद्दे को उठायेगी। हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी इस सत्र में हिस्सा नहीं लेंगे।

क्या रहेंगे इंतजाम

जैसा कि सब जानते हैं यह सत्र कोरोना काल में चलाया जा रहा है। ऐसे में सावधानियों का भी विशेष ध्यान रखा गया है। इसके मद्देनजर संक्रमण रोकने के लिए 6 बार रोज एसी बदले जाएंगे। सांसदों को संक्रमण से बचाव के लिए डीआरडीओ की किट दी जाएगी। इस किट में 40 डिस्पोजल मास्क, एन95 मास्क, सैनिटाइजर की 20 बोतलें, 40 ग्लब्ज और दरवाजा बंद करने के लिए टच फ्री हुक्स होंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: