Taliban capture Kandahar: अफगानिस्तान के दूसरे शहर कंधार पर भी तालिबान का कब्जा, अल्पसंख्यकों को सुरक्षित निकालेगा भारत

0

Taliban capture Kandahar: अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबानी (Taliban) अपना कहर बरपा रहे हैं। एक के बाद एक शहर पर तालिबानियों ने कब्जा जमाना शुरु कर दिया है। तालिबान जिस तेजी से कदम बढ़ा रहा है उससे दुनिया चिंतित है। एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक तालिबान ने अफगानिस्तान के दूसरे सबसे बड़े शहर कंधार (Kandahar) पर कब्जा कर लिया है। राजधानी काबुल (Capital Kabul) से कंधार की दूरी करीब 500 किलोमीटर है। तालिबान जिस तेजी से अफगानिस्तान पर कब्जा कर रहा है उससे अब ऐसा लग रहा है कि जल्द ही वो काबुल (Kabul) पर कब्जा कर लेगा।

Taliban capture Kandahar

Taliban capture Kandahar: अपने लोगों को निकालने की कोशिश में भारत

पूरे अफगानिस्तान में अपना कब्जा जमाने की फिराक में लगे तालिबान कहर बरपा रहे है तो वहीं कई शहरों में मौत का मंजर नजर आ रहा है। दूसरी तरफ अफगान सेना तालिबानी आंतकियों के सामने घुटने टेक रही है। धीरे-धीरे अफगानिस्तान में तालिबानी आतंकियों का कद बढ़ता जा रहा है। इस मुश्किल वक्त में अफगानिस्तान की सरकार बेबस और लाचार नजर आ रही है तो वहीं भारत को अफगानिस्तान में बसे अपने लोगों की सुरक्षा की चिंता सता रही है।

ये भी पढ़ें- Self-reliant women power: केंद्र सरकार ने महिलाओं को दी बड़ी सौगात, महिला उद्यमियों के लिए 1,625 करोड़ की राशि जारी

अफगानिस्तान में चल रहे इस आतंकी तांडव के बीच कतर की राजधानी दोहा में बैठकों का सिलसिला चल रहा है, जिसमें चीन, पाकिस्तान, रूस और अमेरिका के अलावा भारत को भी शामिल होने का न्योता दिया गया। अफगानिस्तान में तेजी से बिगड़ रहे हालातों पर भारत नजर बनाए हुए है। इन हालातों को ध्यान में रखते हुए कई फैसले किए जा रहे हैं।

Taliban capture Kandahar: अफगानिस्तान में फंसे हिंदू और सिख समुदाय को सुरक्षित निकालने में मदद करेगा भारत

इन फैसलों के तहत फिलहाल काबुल में भारतीय दूतावास खुला रहेगा। भारत, अफगानिस्तान में मौजूद अल्पसंख्यकों को सुरक्षित जगह पर जाने में मदद देगा। विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि भारत सरकार पहले भी 380 से ज्यादा परिवारों को देश लौटने में मदद कर चुका है. यहां फंसे हिंदू और सिख समुदाय सुरक्षित आना चाहेंगे तो उन्हें पूरी मदद की जाएगी।

Taliban capture Kandahar: अफगानिस्तान में रह रहे लोगों और मीडिया कर्मियों के लिए चेतावनी जारी

भारत सरकार ने अफगानिस्तान में रह रहे लोगों से इस एडवाइजरी को गंभीरता से लेने की सलाह दी है। अफगानिस्तान में रिपोर्टिंग कर रहे मीडिया कर्मियों के लिए भी चेतावनी जारी की गई है। हालांकि सैन्य सहयोग को लेकर अभी किसी तरह का फैसला नहीं लिया गया है।

Taliban capture Kandahar: अमेरिका ने अपने नागरिकों को अफगानिस्तान छोड़ने की सलाह दी

भारत के अलावा अमेरिका ने भी एडवाइजरी जारी करते हुए वहां मौजूद अपने लोगों को जल्द से जल्द अफगानिस्तान छोड़ने की सलाह दी है। अमेरिका अपने लोगों को बचाने की पूरी कोशिश कर रहा है। इस कोशिश में अमेरिका ने तालिबान से गुहार भी लगाई है। अमेरिका ने तालिबान से अपील की है कि वे काबुल में बने अमेरिकी दूतावास पर हमला ना करें। और वहां मौजूद अमेरिकी राजनयिकों को सुरक्षित वापस लौटने दें।

Taliban capture Kandahar: तालिबान के लिए पाकिस्तान का रुख नरम

इस बीच पाकिस्तान ने भी अफगानिस्तान मसले पर अपना पक्ष रखा है। पाकिस्तान पर हमेशा से आरोप लगते रहे हैं कि वो तालिबानी आतंकियों को समर्थन दे रहा है। जिसका जवाब देते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि अफगान सरकार अपनी गलतियां छिपाने के लिए पाकिस्तान सरकार पर आरोप लगा रही है।

इमरान ने भले ही इशारों इशारों में सही लेकिन ये तो साफ ही कर दिया कि पाकिस्तान का रुख तालिबान के लिए नरम है, क्योंकि अफगानिस्तान को मुर्दा बनाने की हद तक बर्बाद कर देने वाले तालिबान का दावा भी इंटरनेशनल मंचों पर यही है कि जनता के समर्थन से वो प्रांत दर प्रांत पर अपना कब्जा जमा रहा है।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.