Swami prasad maurya: स्वामी प्रसाद मौर्य के काफिले पर हुआ हमला, कई समर्थक घायल, BJP समर्थकों पर लगा आरोप

0

Swami prasad maurya: कुशीनगर से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के काफिले पर हमला किया गया है। हमले में काफिले में सामिल कई गाड़ियां टूट गई। साथ ही गाड़ियों बैठे स्वामी प्रसाद के साथ उनके समर्थकों को चोटें आई हैं। हमले की सूचना मिलने पर स्वामी प्रसाद की बेटी संघमित्रा भी मौके पर पंहुच गई। हमले के विरोध में स्वामी मौर्य मौर्य अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए हैं।

स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami prasad maurya) के काफिले पर हमला बीजेपी समर्थकों पर हमले का आरोप

Swami prasad maurya
हमले के बाद मीडिया से बात करते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य

बतादें कि कुशीनगर में 3 फरवरी को विधानसभा चुनाव होने हैं। कुशीनगर के फाजिलनगर से सपा प्रत्याशी और पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के रोड शो कर रहे थे। रोड शो के दौरान कुशीनगर से फाजिलनगर के बीच खलवा पट्टी के पास लोगों ने लाठी, डंडे और पत्थरों से उनके काफिले पर हमला कर दिया गया। पथराव करने का आरोप बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लगाया जा रहा है।  हमले में स्वामी प्रसाद के लगभग 100 समर्थकों को चोट आई है। घटना के विरोध में स्वामी प्रसाद गोरड़िया में पडरौना तमकुही मार्ग पर धरना देने लगे।  इस बीच उनके साथ बड़ी संख्या में समर्थक भी थे।

हमले में स्वामी प्रसाद (Swami prasad maurya) के ड्राइवर का कान कटा

Swami prasad maurya

स्वामी प्रसाद (Swami prasad maurya) की बेेटी ने हमले के लिए बीजेपी को दोषी ठहराया

घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पंहुची स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी व भाजपा सांसद संघमित्रा ने कहा कि शांति और खुशहाली का संदेश देने वाली भाजपा की ओर से किए गए इस हमले के पीछे जिसका भी हाथ है। वह गलत है. उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘फाजिलनगर की जनता इस बार स्वामी का साथ दें। उन्होंने कहा कि आज मैं खुलेआम यहां पर कहती हूं कि फाजिलनगर की जनता 3 मार्च को ऐसे हुड़दंगियों को सबक सिखाएगी। स्वामी प्रसाद मौर्य को भारी मतों से विजयी बनाकर उनकी दबंगई को उनके घर में बंद करवाएं।’

Swami prasad maury
भाजपा सांसद संघमित्रा

इस घटना के बारे में पूछे जाने पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि ‘भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता एक साजिश के तहत हमारे काफिले पर लाठी-डंडे और पत्थरों से हमला किया गया है। जिसमें मेरे ड्राइवर का कान फट गया है, साथ ही कई समर्थकों को गंभीर चोट आई है। गाड़ीयां तोड़ दी गई है।’ उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले की जांच की जानी चाहि। मामले की निष्पक्ष जांच की मांग करते हुए सैकड़ों समर्थकों के साथ गोरड़िया में पडरौना तमकुही मार्ग पर धरना देने लगे।

ये भी पढ़ें-Election Commission: भाजपा ने चुनाव आयोग से वोटर्स को पोली बूध पर मोबाइल ले जाने की अनुमति मांगी

Leave A Reply

Your email address will not be published.