JEE, NEET परीक्षा मामले में सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार को दी हिदायत

परीक्षा कराने के फैसले की तुलना इंदिरा सरकार के नसबंदी वाली गलती से की

0

JEE, NEET Exam: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी Subramanian Swamy अक्सर अपनी ही पार्टी के खिलाफ कई बार बोलने के लिए जाने जाते हैं, इस बार सितंबर पहले हफ्ते में कराई जाने वाली नीट (NEET) और जेईई (JEE) की परीक्षाओं के फैसले पर भी सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी टिप्पणी दी है। सुब्रमण्यम स्वामी ने इसकी तुलना 1976 में इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) सरकार द्वारा की गयी नसबंदी के फैसले से की है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने नसबंदी वाले वाकये की बात करते हुए बताया कि लोग चुपचाप सहन कर तो कर लेते हैं लेकिन उनकी यादों में हमेशा रहता है। जिस तरह से 1976 में नसबंदी के फैसले के बाद 1977 में इंदिरा गांधी सरकार को हार का मुंह देखना पड़ा था, उसी तरह यही NEET और JEE की परीक्षा अभी कराना मोदी सरकार के लिए वैसा ही साबित हो सकता है।

ट्विटर पर लोग सुब्रमण्यम स्वामी को टैग करके लोग नीट और जेईई की परीक्षा पोस्टपोन कराने की भी मांग कर रहे हैं। वहीं सुब्रमण्यम स्वामी भी लगातार इससे जुड़े हुए पोस्ट डाल रहे हैं और कोशिश कर रहे हैं कि सरकार ने नीट (NEET) और जेईई (JEE) की परीक्षा को अभी के लिए टाल दें। उन्होंने सुझाव दिया है कि यह परीक्षा दिवाली के बाद कराना ही उचित रहेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: