‘इंडिया फर्स्ट’ की नीति अपनाएगा श्रीलंका- विदेश सचिव

कोलेंबेज़ का यह बयान भारत के लिए अहम

0

श्रीलंका (Sri Lanka) के राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे ( Gotabaya Rajapaksa ) द्वारा नियुक्त कोलंबेज पहले ऐसे विदेश सचिव हैं जो सैन्य पृष्ठभूमि से आते हैं। कोलंबेज 2012-14 के बीच श्रीलंका की नौसेना के प्रमुख रहे और बाद में विदेशी नीति विश्लेषक के तौर पर उन्होंने अपनी सेवाएं दीं।  उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे पहले भारत दृष्टिकोण अपनाएंगे।

श्रीलंका में बढ़ते चीन के हस्तक्षेप के बीच भारत श्रीलंका संबंधों में खटास आ गई थी । इस बीच कोलेंबेज़ का यह बयान भारत के दृष्टिकोण से काफी अहम है । चीन द्वारा हंबनटोटा बंदरगाह ( Hambantota Port) में निवेश पर कोलंबेज ने कहा कि श्रीलंका ने हबंनटोटा की पेशकश पहले भारत से की थी। उन्होंने कहा, ‘‘भारत ने जिस भी कारण से उसे नहीं लिया और तब वह एक चीनी कंपनी को दे दिया गया।

कोलेंबेज के मुताबिक ‘‘चीन दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और भारत को छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था माना जाता है। 2018 में भारत दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता अर्थव्यवस्था वाला देश था। इसका मतलब साफ है कि श्रीलंका दो शक्तियों के बीच है, उन्होंने कहा कि  श्रीलंका को यह कतई स्वीकार नहीं कि उसका इस्तेमाल किसी अन्य देश-विशेष के तौर पर भारत के खिलाफ कुछ करने के लिए किया जाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: