सरगम के सरताज सोनू का 47वां जन्मदिन आज

अक्सर विवादों से भी रहा है सोनू निगम का रिश्ता

0

30 जुलाई 1973 को हरियाणा के फरीदाबाद में जन्मे सोनू निगम 4 साल की उम्र से ही स्टेज पर गाते रहे हैं। जागरण और शादियों में गाने गाते हुए बड़े हुए और एक समय ऐसा आया जब हिंदी म्यूजिक इंडस्ट्री में सोनू निगम ने राज किया। 1995 में आए सिंगिंग रियलिटी शो सारेगामा को सोनू ने होस्ट किया था जिससे वह काफी पॉपुलर भी हो गए थे। 1997 में आई फिल्म बॉर्डर में उनके गीत ‘संदेशे आते हैं’ से घर घर में पहचाने जाने लगे।

सोनू को गायकी के कई अवार्ड मिल चुके हैं। साल 2002 में आई कल हो ना हो के टाइटल ट्रैक के लिए सोनू को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिला है। सोनू सिर्फ हिंदी गानों के ही बादशाह नहीं हैं, उन्होंने अंग्रेजी, बंगाली, कन्नड़, तमिल, भोजपुरी, गढ़वाली, ओड़िया भाषा में भी कई गाने गाए हैं जिन्हें काफी पसंद किया जाता है।

गायकी की दुनिया में चार दशक बिताने वाले सोनू निगम ने ‘जानी दुश्मन’ जैसी फिल्मों में बतौर अभिनेता भी खुद को आजमाया, पर वहां उतना जम नहीं पाये। सोनू कहते हैं कि वह बचपन से ही मोहम्मद रफी साहब को सुनते हुए बड़े हुए हैं, अक्सर मंचों पर रफी साहब के गाने गाते हुए भी दिख जाते हैं। सोनू निगम अवॉर्ड शोज में बॉलीवुड सिंगर्स की मिमिक्री भी करते हैं।

सोनू निगम का विवादों से भी गहरा रिश्ता है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद जब नेपोटिज्म पर बहस छिड़ी तो सोनू ने भी म्यूजिक कंपनियों को म्यूजिक माफिया बताते हुए टी सीरीज के मालिक भूषण कुमार पर गंभीर आरोप लगाए थे। इसी तरह साल 2018 में जब उन्होंने ट्वीट कर दिया था कि ‘लाउडस्पीकर की अजान से उनकी नींद खराब होती है’ तब भी काफी बड़ा विवाद खड़ा हुआ था और उनको सोशल मीडिया से दूरी बनानी पड़ी थी।

 

जुगल किशोर

Leave A Reply

Your email address will not be published.