शिवसेना की हरकत से उनके साथी भी नाखुश, जानें पूरा मामला

शिवसेना के सहयोगी दल एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं ने शिवसेना की हरकत को बदले की राजनीति कहा

0

मुंबई- सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की आत्महत्या के बाद लगातार खबरों में बनी रहने वाली कंगना रनौत (Kangna Ranout) ने सुशांत सिंह राजपूत के लिए न्याय की मांग के लिए आवाज उठानी शुरू की थी। लेकिन धीरे-धीरे यह लड़ाई कंगना और संजय राउत (Sanjay Raut) से होते हुए कंगना और शिवसेना की हो गई। इसी लड़ाई में कंगना ने महाराष्ट्र (Maharashtra) को पाकिस्तान (Pakistan) और मुंबई को पाक अधिकृत कश्मीर (POK) जैसा बता दिया वही शिवसेना ने बीएमसी के हाथों कंगना के ऑफिस पर बुलडोजर चलवा दिया

जहां देश के नेता और जनता इस वक्त दो धड़ों में बंटे हुए हैं, कुछ बीएमसी की कार्यवाही को गलत और शिवसेना को बदले की राजनीति करते हुए बता रहे हैं तो कुछ लोग कंगना के बयानों को गलत बताकर उस पर निशाना साध रहे हैं। अब शिवसेना के सहयोगी दल एनसीपी (NCP) के शरद पवार और कांग्रेस के नेता संजय निरुपम का बयान आया है जहां उन्होंने शिवसेना के इस हरकत को सिर्फ और सिर्फ बदले की राजनीति करार दिया है।

क्या कहा संजय निरुपम ने

कांग्रेसी नेता संजय निरुपम (Sanjay Nirupam) ने कहा कि कंगना ने महाराष्ट्र और मुंबई के बारे में जो भी कहा वह उससे बिल्कुल सहमत नहीं हैं। लेकिन इसके बदले में शिवसेना ने जो घटिया कदम उठाए हैं वह बहुत बेकार हैं। यह सिर्फ और सिर्फ बदले की राजनीति है। कंगना के ऑफिस में जो कुछ भी तोड़ा गया इस तरह के काम मुंबई के 90 फीसदी घरों में हैं। महाराष्ट्र सरकार कोरोना नियंत्रण में फेल हो गई है। इसलिए वह अब गाली गलौज वाली राजनीति पर उतर आई है। संजय निरुपम ने बीएमसी की इस कार्यवाही को बिल्कुल गलत बताया है।

क्या बोले शरद पवार

शिवसेना की दूसरी सहयोगी पार्टी एनसीपी (Nationalist Congress Party) के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad pawar) ने कंगना का बिना नाम लिए कहा कि “उसकी बातों पर लोग ध्यान नहीं दे रहे थे लेकिन शिवसेना ने बीएमसी के जरिए इस तरह की कार्यवाही कराकर कंगना को बोलने का मौका दे दिया है। शरद पवार ने कहा कि मुंबई में तो 90 फीसदी घरों में इस तरह का अवैध निर्माण है तो सिर्फ कंगना का ही ऑफिस क्यों तोड़ा गया”।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: