समाजवादी युवा संगठन ने भाजपा सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, जानें क्या हैं मुद्दे

उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में समाजवादी पार्टी की तरफ से केंद्र सरकार और राज्य सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ सौंपे ज्ञापन

0

उत्तर प्रदेश – समाजवादी युवा संगठनों (Samajwadi Yuva Sangathan) ने आज उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में केंद्र सरकार और राज्य सरकार की खराब नीतियों के खिलाफ जिला प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल (Rajyapal) के पास ज्ञापन भेजा। जिसमें मुख्य रूप से उनकी मांगें किसानों, छात्रों और बेरोजगारी से जुड़ी हुई थी। समाजवादी युवा संगठन के युवाओं ने आरक्षण (Reservation) पर दलितों की अनदेखी पर भी सवाल खड़े किए।

 

सौंपे गए ज्ञापन में समाजवादी युवा संगठन ने कहा कि शिक्षा का बाजारीकरण किया जा रहा है जो कि गरीब और वंचित वर्ग के लिए काफी मुश्किल होगा। B.Ed प्रवेश में अनुसूचित जाति (Schedule Cast) और अनुसूचित जनजाति का जो निशुल्क प्रवेश होता था उसके लिए भी अब शुल्क लिया जा रहा है जो नहीं लिया जाना चाहिए।

संगठन ने उत्तर प्रदेश के लगभग हर जिले में आज सरकार के खिलाफ ज्ञापन सौंपा। जिसमें इलाहाबाद, वाराणसी, भदोही, बलरामपुर, कानपुर, गाजियाबाद, मुरादाबाद, फर्रुखाबाद, गाजीपुर, बरेली, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, संत कबीर नगर, प्रतापगढ़, एटा, बिजनौर, बागपत, बुलंदशहर, कन्नौज, मेरठ, अमेठी, महोबा, चंदौली, बाराबंकी, बलिया, मिर्जापुर, सीतापुर, जौनपुर, श्रावस्ती, हरदोई, कौशांबी, सोनभद्र, चित्रकूट, देवरिया, सुल्तानपुर समेत अन्य कई जिलों में समाजवादी युवा संगठन ने अपना प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ ज्ञापन सौंपा।

पुलिस से झड़प

वाराणसी Varanasi में शांतिपूर्ण ढंग से ज्ञापन सौंपने जा रहे युवा संगठन के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया जिसके बाद माहौल थोड़ा गर्माता हुआ नजर आया। वही लखनऊ Lucknow में यूथ ब्रिगेड (Youth Brigade) के अध्यक्ष अनीश राजा (Anees Raja) के नेतृत्व में समाजवादी छात्रसभा, लोहिया वाहिनी, युवजन सभा और यूथ ब्रिगेड के कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट में जमा हुए जहां पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की और पुलिस से कार्यकर्ताओं की झड़प हुई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: