RRB-NTPC Exam: प्रियंका गांधी ने प्रयागराज में पीड़ित रेलवे प्रतियोगी छात्रों से की बातचीत, हर संभव मदद का दिया भरोसा

0

RRB-NTPC Exam: एक तरफ जहां पूरे उत्तर प्रदेश में चुनावी सरगर्मियां जोरों पर हैं तो वहीं हर एक मुद्दा अब सियासी मुद्दा बन रहा है और इन मुद्दों को राजनीतिक पार्टियां भुनाने में लगी हुई हैं। और सियासी पार्टियों को एक और मुद्दा इन दिनों मिल गया है और वो हैं रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) की (NTPC) परीक्षा में धांधली का मामला जिसे लेकर सियासत तेज हो गई है।

RRB-NTPC Exam

RRB-NTPC Exam: पीड़ित छात्रों को मिला प्रियंका गांधी वाड्रा का साथ

कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रयागराज में पुलिस की पिटाई से पीड़ित प्रतियोगी छात्रों से मुलाकात और बातचीत की। उन्होंने पीड़ित छात्रों को हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया।

उन्होंने छात्रों से कहा कि हम आपके साथ खड़े हैं। मैं हर मंच और फोरम में आपकी बात उठाऊंगी। एक तरफ जहां पीड़ित छात्रों को कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का साथ मिल गया है तो वहीं कांग्रेस इस मुद्दे को सिसायत का एक नया रंग देने की फिराक में है।

RRB-NTPC Exam: भर्ती प्रक्रियाओं को सालों साल लटकने से बचाने का उपाय हैं जॉब कैलेंडर- प्रियंका गांधी

कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने पीड़ित छात्रों से कहा कि डरिए मत, ये सुनिश्चित करिए कि चुनाव आपके मुद्दों पर हो, आपके रोजगार के मुद्दे पर हो। सरकार आपको नौकरी नहीं देती और आप पर दमन भी करती है। अब जब नेता वोट मांगने आएं तो उनकी जवाबदेही तय करिए। भर्ती प्रक्रियाओं को सालों साल लटकने से बचाने का हल है, जॉब कैलेंडर।

हमने अपने युवा घोषणा में जॉब कैलेंडर की बात की है। उन्होंने प्रयागराज आकर भी छात्रों से मिलने का वादा किया। प्रियंका गांधी ने पीड़ित छात्रों से मिलने का वादा तो कर लिया है लेकिन सवाल ये है कि पीड़ित छात्रों को कांग्रेस का कितना साथ मिलता है। क्योंकि चुनावी मौसम में वादे ही वादे किये जाते हैं लेकिन इन वादों का क्या।

RRB-NTPC Exam: हॉस्टल में घुसकर लाठीचार्ज करने पर 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड, पथराव के आरोप में दो छात्र गिरफ्तार

बता दें कि मंगलवार को प्रयागराज के प्रयाग स्टेशन पर छात्रों ने नौकरी न मिलने को लेकर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया था। घंटों ट्रैक पर भी डेरा डाला। वहीं बाद में पुलिस ने हॉस्टल में घुसकर छात्रों पर लाठीचार्ज किया। इस मामले में छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें- School Reopen and Corona Update: जल्द खुल सकते हैं स्कूल, केंद्र जल्द ले सकता है फैसला

वहीं दूसरी ओर ट्रेन रोकने, ट्रेन में आग लगाने की कोशिश करने और पुलिस बल पर पथराव के पीछे राजनीतिक फंडिंग के संकेत मिले हैं। पुलिस ने पूरे प्रकरण की जांच के लिए 11 सदस्यीय टीम गठित की है। पथराव के आरोप में अब तक दो छात्रों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अब देखना होगा कि चुनावी सरगर्मियों और माहौल के बीच ये मुद्दा कितना जोर पकड़ता है। क्या कांगेस को इस मुद्दे से कोई फायदा होगा ये तो वक्त ही बताएगा।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.