क्या बंद हो सकते हैं 2 हजार के नोट, जानिए क्या कहती है रिपोर्ट

RBI के मुताबिक 2019-20 में 2,000 रुपये के नए नोटों के प्रयोग में आई है कमी

0

भारत में इस साल 2,000 रूपए के नोट (2000 Rupee Note) का प्रयोग बहुत कम हुआ है। जिस वजह से 2019-20 में 2,000 रुपये के नए नोटों की छपाई ( Pint) नहीं हुई है। भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) की 2019-20 की वार्षिक रिर्पोर्ट के मुताबिक कम प्रयोग होने की वजह से इस वर्ष 2,000 हजार के नए नोट की छपाई नहीं की गई है।

RBI की रोपोर्ट के मुताबिक मार्च 2018 तक 2,000 रूपए के नोटों की कुल संख्या 33,632 लाख थी, जो मार्च, 2019 के अंतकर मात्र 32,910 लाख पर आ गई। इसके साथ ही इस साल यानी मार्च 2020 तक 2,000 हजार रूपए के नोटो की संख्या में और कमी देखी गई है, मार्च के महीने तक चलन में 2,000 रूपए के नोटों की संख्या केवल 27,398 लाख ही थी।

नुमान  है कि मार्च 2021 तक ये आंकड़ा और नीचे गिर सकता है, ऐसे में विशेषज्ञों का अनुमान है कि आने वाले दिनों में 2,000 हजार रूपए के नोट बंद हो सकते हैं। आंकड़ों के अनुसार मार्च, 2020 तक चलन में मौजूद कुल नोटों के मूल्य में 2,000 के नोट का हिस्सा घटकर 22.6 प्रतिशत रह गया है। जो मार्च, 2019 के अंत तक 31.2 प्रतिशत था।

RBI की रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि 2019-20 में 2,000 के करेंसी नोट की छपाई के लिए कोई ऑर्डर नहीं दिया गया था। भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लि. और सिक्योरिटी प्रिटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लि. की ओर 2,000 के नए नोटो की कोई नई आपूर्ति नहीं की गई।

इसी के उलट बीते वित्त वर्ष में 500 और 200 नए नोटो का छपाई अधिक हुई थी। रिपोर्ट की माने तो 2018 से तीन साल के दौरान 500 और 200 रुपये के नोटों के प्रसार में इजाफा हुआ है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: