शहीद रवि को अंतिम विदाई देने पैतृक गांव पहुंचा 5 किमी लंबा काफिला

बारामुला में शहीद हुए थे रवि कुमार सिंह

0

मिर्जापुर: जम्मू-कश्मीर(JAMMU KASHMIR) के बारामुला(BARAMULA ENCOUNTER) में शहीद हुए रवि कुमार सिंह का पार्थिव शरीर गुरुवार की सुबह वाराणसी(VARANASI) से उनके गौरा गांव पहुंचा।गौरा मैदान में राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। पिता संजय सिंह ने इकलौते पुत्र को मुखाग्नि दी।

देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए रवि के अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। रवि कुमार की अंतिम यात्रा में 50 हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए।  यात्रा मार्ग पर पुष्पवर्षा की और शहीद के नाम के जयकारे लगाए गए।। यात्रा में उपस्थित लोगों ने सरकार से रवि की शहादत का बदला लेने की मांग की। शहीद के अंतिम दर्शन की लालसा लिए हजारों लोगों का  पांच किलोमीटर लंबा काफिला गांव तक पहुंचा। पुष्पवर्षा कर नम आंखों से लोगों ने अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। सेना के जवानों ने भी अंतिम सलामी दी।

रवि कुमार सिंह कश्मीर के बारामुला में आतंकी हमले में शहीद हो गए थे। तीन दिन बाद उनका पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पहुंचा तो लोगों की आंखे छलछला आई। जो लोग शहीद रवि के अंतिम दर्शन नहीं कर सके उन्होने उस जमीन की मिट्टी को चूम लिया जिस रास्ते से होकर उनका पार्थिव शरीर गौरा गांव पहुंचा था। बता दें कि रवि कुमार केवल 25 साल के थे और दो साल पहले ही उनकी शादी हुई थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: