Pratapgarh News: परिवार रजिस्टर की नकल बनवाने के लिए गांव वाले मगरौरा ब्लाक का लगा रहे हैं चक्कर, 3 महीने बाद भी नहीं हुई सुनवाई

Pratapgarh News: उच्च अधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी ग्राम विकास अधिकारी कर रहे हैं मनमानी

0

Pratapgarh News: देश में सरकार गरीबो के लाभ के लिए योजनाएं तो बहुत बनाती है लेकिन सरकारी कर्मचारियों और आला दर्जे के अफसरों की बेरूखी से गरीब तबके और गांव के लोगों को सरकार की उन लाभकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है। ऐसा ही एक मामला प्रतापगढ़ जिले का है।

आपको बता दें, उत्तर प्रदेश के प्रतापढ़ जिले के उतरास गांव के लोग परिवार रजिस्टर की नकल न मिलने से काफी परेशान है। गांव वाले बीते 3 महीनों से परिवार रजिस्टर की नकल बनवाने के लिए मगरौरा ब्लाक के चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन गांव वालों के हाथ परिवार रजिस्टर की नकले के स्थान पर निराशा ही हाथ लगी है।

ये भी पढ़ें- Environmental Protection Program: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया विवेकानंद सस्टेनेबिलिटी समिट का उद्घाटन

Pratapgarh News
Pratapgarh News

Pratapgarh News: परिवार रजिस्टर की नकल बनवाने के लिए गांव वाले लगा रहे हैं तीन महीने से गुहार

Pratapgarh News
Pratapgarh News

विकासखंड मंगरौरा तहसील पट्टी प्रतापगढ़ के कर्मचारियों की कार्यशैली और  उपेक्षापूर्ण व्यवहार से आम आदमी सरकार की लाभकारी योजना से वंचित रह जाते हैं। कागजी विकास का घोड़ा दौड़ रहा दफ्तर में ग्राम विकास अधिकारी और एडीओ पंचायत अधिकारी  के साथ साथ वीडियो के फाइलों में ग्राम विकास उतरास विकासखंड मंगरौरा तहसील पट्टी प्रतापगढ़ के बैजनाथ नाम के शख्स ने परिवार रजिस्टर की नकल लेने के लिए बीते 14 दिसंबर 2021 को ही एक प्रार्थना पत्र और शपथ पत्र दिया था, लेकिन करीब 4 महीने बीत जाने के बाद भी आज तक परिवार रजिस्टर की नकल नही मिल पाई है।

Pratapgarh News: कर्मचारियों की लापरवाही, लोगों के लिए बनी परेशानी

Pratapgarh News
Pratapgarh News

ऐसे में सरकारी अमले की ऐसी लापरवाही की वजह से आम आदमी को खासी परेशानी उठानी पड़ती है। सवाल पूछने पर सरकारी कर्मचारियों की ओर जवाब भी सीधे तौर पर नहीं मिलता है। न जाने ऐसे कितने ही बैजनाथ इस देश में मौजूद हैं जिनकी पूरी जिन्दगी अपने छोेटे से काम के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाते ही निकल जाती है, लेकिन सरकारी अमला निंद से नहीं जागता।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.