पावर ग्रिड फेल होने से थम गई मायानगरी, जनजीवन बुरी तरह प्रभावित

बिजली अपूर्ति बाधित होने का असर मुंबई - मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे पर पड़ा और बड़ी संख्या में यात्री इन ट्रेनों में फंसे हुए हैं। कई स्थानों पर यात्री उतर गए और पास के उपनगरीय रेलवे स्टेशन की ओर जाने लगे।

0
मुंबई: मुंबई और मुंबई महानगर के ठाणे, रायगढ़ और पालघर में ग्रिड फेल होने के कारण सोमवार को बिजली गुल होने का असर लोगों के दैनिक जीवन पर देखने को मिला। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने कहा कि ठाणे के कलवा में 400 किलोवाट लाइनों पर कुछ नियमित मेंटनेंस का काम चल रहा है।

राउत ने एक बयान में कहा, “सभी लोड को दूसरे सर्किट में शिफ्ट कर दिया गया था, जो कुछ तकनीकी खराबी का सामना कर रहा था और मुंबई-ठाणे के बड़े हिस्से में बिजली की आपूर्ति बाधित हो गई। बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए युद्धस्तर पर काम चल रहा है।”

वितरकों में से एक बेस्ट ने कहा कि टाटा की इनकमिंग इलेक्ट्रिक सप्लाई विफल होने के कारण सुबह 10.15 बजे के आसपास बिजली की आपूर्ति बाधित हुई।

बिजली अपूर्ति बाधित होने का असर मुंबई – मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे पर पड़ा और बड़ी संख्या में यात्री इन ट्रेनों में फंसे हुए हैं। कई स्थानों पर यात्री उतर गए और पास के उपनगरीय रेलवे स्टेशन की ओर जाने लगे।

बीएमसी के एक प्रवक्ता ने कहा कि कलवा, ठाणे में टाटा पावर की सेंट्रल ग्रिड फेल होने के कारण बिजली गुल हुई।

पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता सुमित ठाकुर ने कहा कि टाटा पावर कंपनी की ग्रिड फेल होने के कारण 10.05 बजे ट्रैक्शन पॉवर में रुकावट के मद्देनजर चर्चगेट और बोरिवली के बीच की सेवाएं बंद हैं। बिजली सप्लाई शुरू होते ही इसे फिर से शुरू कर दिया जाएगा।

हालांकि, MSETCL से बिजली की आपूर्ति वसई रोड पर उपलब्ध थी। चर्चगेट-बोरीवली सेक्शन में सेवाएं शुरू करने के लिए भी प्रयास चल रहे थे। यात्रियों से अनुरोध किया गया कि वे घबराएं नहीं और सामाजिक दूरी बनाए रखें।

एक प्रवक्ता ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सभी ऑपरेशन सामान्य थे।

वहीं बीएसई के प्रवक्ता ने बताया, “बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज सामान्य रूप से काम कर रहा है। आज सुबह मझगांव शिपबिल्डर्स के लिए लिस्टिंग सेरेमनी सफलतापूर्वक संपन्न हुआ।” 

बिजली आपूर्ति बाधित होने की वजह से पानी की आपूर्ति न होना, कुछ इमारतों में लोगों का लिफ्ट में फंस जाना जैसी दिक्कतें सामने आईं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: