PM Awas Yojna: फूटा घर, फूटी किस्मत, प्रतापगढ़ में पीएम आवास के लिए दर-दर भटक रहे हैं गरीब

0

PM Awas Yojna: योगी सरकार भले ही राज्य के हर गरीब को आवास मुहैया कराने का दावा कर रही हो लेकिन जब जमीनी हकीकत सामने आती है तो सरकारी योजनाओं की पोल खुलते देर नहीं लगती। ऐसा ही मामला प्रतापगढ़ के मंगरौरा ब्लॉक, ग्राम उतरास में देखने को मिल रहा है जहां गरीबों के सिर पर छत तक नहीं हैं। पीएम आवास योजना का लाभ लेने के लिए ये गरीब दर-दर भटक रहे हैं।

ये भी पढ़ें-
Delhi News Updates: सिविल डिफेंस के कर्मचारी ने दिल्ली में नाबालिग लड़की से किया दुष्कर्म

PM Awas Yojna

PM Awas Yojna: सरकारी दस्तावेंजों में खुशहाल है हर गरीब!

सरकारी दस्तावेजों पर सरकारी योजनाएं हर गरीब को लाभान्वित कर रही हैं। गरीब खुशहाल है तो फिर पीएम आवास के लिए दर दर भटकने को मजबूर ये गरीब कौन हैं? प्रदेश सरकार भले ही गरीबों को पीएम आवास दिलाकर लाभान्वित करने का दावा कर रही है। लेकिन अभी भी बहुत से गरीब परिवार इस योजना से वंचित हैं।

PM Awas Yojna: बरसात के बचने के लिए गरीब ले रहे हैं पॉलीथिन और प्लास्टिक का सहारा

 

बरसात के महीने में पुराने मकानों में रहने को मजबूर हैं। बारिश से बचने के लिए इन परिवारों को पालीथिन या दूसरे के छत का सहारा लेना पड़ रहा है। विकास खंड मगरौरा के ग्राम उतरास निवासी मनोजा देवी पति राजेश गौतम भी पीए आवास वंचितों में से एक है। वह आज भी झोपड़ी बनाकर जीवन यापन कर रहे हैं। छत के नाम पर कुछ भी नहीं है। और थोड़ी सी बारिश के बाद झोपड़ी में चारों ओर पानी टपकने लगता है। इस दौरान सामान भी भीग जाता हैं।

PM Awas Yojna: कई बार ग्राम प्रधान से आवास की मांग की गई, लेकिन नहीं मिला योजना का लाभ

मनोजा देवी ने बताया कि वह बेहद गरीब हैं। निकलने के लिए भी कोई समुचित रास्ता नहीं है। रास्ता खाल होने के कारण जलभराव हो जाता है। जमीन ना होंने कारण पति मजदूरी कर जैसे-तैसे पेट का भरण पोषण कर रहे हैं। उसका कहना कि कई बार प्रधान से आवास की मांग की गई लेकिन आज तक आवास नहीं मिला है।

PM Awas Yojna: गरीब परिवार ने जिलाधिकारी से भी आवास की मांग की है

राजेश का कहना है कि गांव में पात्रों का सर्वे हुआ था। जिसमें नाम भेजा गया था। इसके बाद भी उसे आवास का लाभ नहीं मिला है। बिना आवास राजेश को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। पीड़ित ने जिलाधिकारी से आवास दिलाये जाने की मांग की है। यही हाल गांव में कई अन्य गरीबों का भी है।

रिपोर्ट- शिव प्रसाद, संवाददाता, प्रतापगढ़

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.