Nobel prize 2020: वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को मिलेगा शांति का नोबेल पुरस्कार

पर्यावरणविद ग्रेटा थनबर्ग और WHO भी थे शांति के नोबेल पुरस्कार के लिए दावेदार

0

नार्वे : नार्वे (Norway) की नोबेल कमिटी की अध्यक्ष ने बताया कि 2020 के लिए शांति का नोबेल पुरस्कार वर्ल्ड फूड प्रोग्राम(world food program) को मिलेगा। वर्ल्ड फूड प्रोग्राम दुनिया भर में भूख मिटाने और खाद्य सुरक्षा को बढ़ावा देने वाला एक संगठन है।

इस पुरस्कार के लिए WHO और पर्यावरणविद् ग्रेटा थनबर्ग(Greta thunberg) भी दावेदार थे। लेकिन ज्यूरी ने इन पर वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को तरजीह दी।

 

नोबेल शांति पुरस्कार के लिए इस साल 318 नामांकन आए हैं। हालांकि इस सूची में शामिल नामों को अगले 50 साल तक के लिए गोपनीय रखा जाता है। लेकिन जो भी नामांकित करने के अधिकारी हैं वे जरूर इस विषय में बता सकते हैं। इसी क्रम में इस पुरस्कार के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का नाम भी उजागर हुआ था ।

 

आपको बता दें कि नोबेल पुरस्कार 6 क्षेत्रों (भौतिकी, रसायन विज्ञान, साहित्य, शांति और अर्थशास्त्र) में दिया जाता है। इसकी घोषणा हर साल 12 अक्टूबर तक की जाती है।सभी विजेताओं को यह पुरस्कार अल्फ्रेड नोबेल(Alfred Nobel) की पुण्यतिथि 10 दिसंबर को स्टॉकहोम(Stockholm) में दिए जाएंगे। नोबेल पुरस्कार के विजेता को स्वर्ण पदक और एक करोड़ स्वीडिश क्रोना (करीब 8.20 करोड़ रूपये) की राशि दी जाती है। यह पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर दिया जाता है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: