UK: ब्रिटेन ने जारी किए नए इमिग्रेशन रूल्स

ब्रिटेन में आने के लिए जॉब की पेशकश होना अनिवार्य

0
ब्रिटेन की बोरिस जॉनसन की सरकार ने वीजा नियमों को लेकर कुछ खास बदलाव किए हैं। जो अगले साल जनवरी के महीने से लागू हो जाएगें। इसके लिए 70 पॉइंट्स की घोषणा की गई है। बता दें ये ऐलान ब्रिटेन होम ऑफिस की ओर की गई है। इनके तहत ईयू या गैर-ईयू आवेदकों से एक जैसा बर्ताव किया जाएगा। पहले कि तरह ईयू आवेदकों को ब्रिटेन में मूवमेंट की इजाजत नहीं दी जाएगी।

इस बारे में ब्रिटेन की की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने कहा, “ब्रिटिश लोगों ने हमारे बॉर्डर्स पर कंट्रोल वापस लेने और एक नया पॉइंट-आधारित इमिग्रेशन सिस्टम शुरू करने के लिए मतदान किया। अब हमने ईयू छोड़ दिया है। हम इस देश की पूरी क्षमता को प्राप्त करने के लिए 1 जनवरी 2021 से नया निष्पक्ष, मजबूत, कौशल-प्रधान सिस्टम देने जा रहे हैं। ब्रिटेन व्यापार के लिए खुला है और श्रेष्ठ और चमकदार ग्लोबल टेलेंट के स्वागत के लिए तैयार है।”

ब्रिटिश सरकार के मुताबिक, पॉइंट आधारित सिस्टम में विशिष्ट कौशल, योग्यता, सैलरी और पेशेवर लोगों की किल्लत के हिसाब से पॉइंट्स दिए जाते हैं। सबसे ज्यादा पॉइंट्स वालों को वीजा दिए जाते हैं। अधिक अंक उन स्किल्स के लिए दिए जा सकते हैं जिनसे जुड़े लोग ब्रिटेन में कम मौजूद हैं। या उन लोगों को दिए जा सकते हैं जिनके पास ऊंचे वेतन वाली नौकरी की पेशकश हैं या जो पीएचडी होल्डर्स हैं।

UK आने के लिए वीजा आवेदक के पास यूके की जॉब की एप्लीकेशन होना जरूरी है। इसके साथ ही वीजा आवेदक के पास ऐसी नौकरी होनी चाहिए जो 20,480 पाउंड से अधिक का भुगतान करती है। वहीं आवेदक को अंग्रेजी बोलनी आनी चाहिए।

इसके साथ ही छात्रों, आश्रित परिजनों या हालिया ग्रेजुएट्स के लिए अलग-अलग वीजा के अलग अलग हैं। इस बाबत ब्रिटिश सरकार ने कहा है कि, “अंतर्राष्ट्रीय छात्रों को सफलतापूर्वक अपनी पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद यूके में रहने की अनुमति दी जाएगी। जो छात्र ग्रेजुएशन और मास्टर की डिग्री पूरी कर चुके हैं वो 2 साल के लिए ही रह पाएंगे। और जिन्होंने पीएचडी पूरी कर ली है वो 3 साल तक रह सकते हैं। इससे श्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय ग्रेजुएट्स को यूके में स्किल्ड जॉब्स हासिल करने में आसानी रहेगी और वो यूके की आर्थिक वृद्धि में योगदान कर सकेंगे।”

वहीं ब्रिटेन के बाहर अन्य देशों से आवेदन करने वाले स्किल्ड बैकग्राउंड वाले वर्कर्स के लिए वीजा आवेदन शुल्क 610 पाउंड है। अगर उन्हें तीन साल से अधिक के लिए ब्रिटेन में रहना है तो ये फीस 1120 पाउंड हो जाएगी। अगर शॉर्टेज ऑफ स्किल्ड कैटेगरी के वीजा के लिए आवेदन करना है तो फीस घटकर 464 पाउंड और तीन साल से अधिक रहने के लिए 928 पाउंड निर्धारित की गई है।

इसके साथ ही नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS) का इस्तेमाल करना है तो उसके लिए सालाना इमिग्रेशन हेल्थ सरचार्ज के तौर पर 624 पाउंड का भुगतान करना होगा। वहीं आवेदक को नियुक्त करने वाली कंपनियों को प्रति वर्ष प्रति कर्मचारी 1,000 पाउंड का “इमिग्रेशन स्किल्स चार्ज” देना होगा। हेल्थ एंड केयर वीजा फास्ट ट्रैक एंट्री के लिए अब 610 पाउंड की स्टैंडर्ड वीजा एप्लीकेशन फीस पर डिस्काउंट का प्रावधान होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: