New Delhi: किसान मनायेंगे काला दिवस

केएमपी एक्सप्रेसवे पर किसान प्रदर्शन के रूप में नाकाबंदी करेंगे और टोल भी करवाएंगे मुफ्त।

0
New Delhi: एक बार फिर किसानों ने कृषि कानून का विरोध करने के लिए किया प्रदर्शन | किसानों का कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन का आज 100 दिन पूरा हो रहा है | प्रदर्शन के 100 दिन को किसान काला दिवस के रूप में मना रहे है | साथ ही किसानों ने यह निर्णय लिया है कि वे केएमपी एक्सप्रेसवे को 5 घंटे के लिए ब्लॉक करेंगे और टोल पर प्रदर्शन करेंगे | किसान टोल प्लाजा (toll plaza) के टोल फीस (toll fees) को भी मुफ्त कराएंगे | यह नाकाबंदी 6 मार्च यानी आज सुबह 11 बजे से शाम चार बजे तक होगी | किसानों का कहना है की जिन बॉर्डर्स (Borders) से टोल प्लाजा नजदीक होगा उसे भी ब्लॉक (block) कर दिया जाएगा |
New Delhi
किसान मनायेंगे काला दिवस
ये भी पढ़ें- हाईटेक हुई उत्तर प्रदेश की 31,149 ग्राम पंचायतें
किस तरह करेंगे प्रदर्शन :-
गाजीपुर बॉर्डर (Gazipur Borders) पर किसानों ने अपने हल पर काली पट्टी बांधी और महिलाओं ने काली चुनरी ओढ़ कर यह प्रदर्शन की शुरुआत की और मकानों पर काला झंडा लगाएंगे | किसान पूरी तैयारी के साथ अमृतसर (Amritsar) से भारी संख्या में किसान ट्रैक्टर ट्रालियों के साथ सिंघु बॉर्डर पहुंचे| इसमें यह और महिलाएं भी शामिल है | गर्मी का सामना करने के लिए पंखे भी साथ लाए है | किसान, दिल्ली के अलग अलग बॉर्डर (Borders) पर प्रदर्शन कर रहे है| किसानों का कहना है यह लड़ाई आर पार की होगी |
जब तक सरकार उनकी नहीं सुनेगी और यह तीन कृषि कानून को रद्द नहीं करेगी, तब तक वे प्रदर्शन करते रहेंगे | और किसानों के मुताबिक यह नाकाबंदी पूरी तरह शांतिपूर्वक होगी | इस आंदोलन से किसी रहा चलते लोगों को परेशान नहीं किया जाएगा और रहा चलते लोगों के लिए किसानों ने पानी की व्यवस्था भी की है | किसानों ने यह भी कहना हैकि किसी भी आपातकाल (emergency) वाहनों जैसे एंबुलेंस ( Ambulance)  फायर ब्रिगेड (Fire brigade) की गाड़ी या विदेशी पर्यटकों की गाड़ियों जैसी जरूरी वाहनों को नहीं रोका जाएगा |
किसान नेताओं का क्या कहना है 

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्याय राकेश टिकैत का कहना है जब कानून वापस नहीं होगा तब तक हम घर नहीं जायेंगे | साथ ही उन्होंने यह भी कहा सरकार से अभी बातचीत की कोई गुंजाइश नहीं है, तैयारी लंबी है और उन्हें यहां एक साल और डटे रहना होगा | हम पूरी तरह तैयार है | किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा की उन्हें पता है यह आंदोलन कब तक चलेगा लेकिन जीत मिलने तक किसान की यह लड़ाई जारी रहेगी |

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को facebook Page पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: