Neeraj Chopra Wins Gold: भाला फेंक में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा बने पहले एथलिट और दूसरे खिलाड़ी

0

Neeraj Chopra Wins Gold: टोक्यो ओलंपिक 2021 (Tokyo Olympics  2021) में भारत के नाम मेडल की मानो बरसात हो रही है। और ऐसा हो भी क्यों ना, देश के जाबांज खिलाड़ी मैदान में अपना पसीना जो बहा रहे हैं। भारत के एक और लाल ने ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर पूरे देश का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है। भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल (Gold medal)  जीतकर इतिहास रच दिया है। वह देश के लिए व्यक्तिगत गोल्ड मेडल जीतने वाले दूसरे खिलाड़ी और पहले एथलीट बन गए हैं।

Neeraj Chopra Wins Gold: नीरज के पहले 13 साल पहले अभिनव बिंद्रा ने बीजिंग ओलंपिक में जीता था गोल्ड

नीरज ने अपने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर की दूरी के साथ पहला स्थान हासिल किया। 86.67 मीटर के साथ चेक गणराज्य के याकुब वाल्देज दूसरे स्थान पर रहे जबकि उनके ही देश के विटेस्लाव वेसेली को 85.44 मीटर के साथ कांस्य मिला।

नीरज से पहले अभिनव बिंद्रा ने 13 साल पहले बीजिंग ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था। हालांकि, अभिनव ने यह गोल्ड निशानेबाजी में जीता था। टोक्यो में नीरज ने जो किया है वह ऐतिहासिक है क्योंकि इससे पहले भारत को ओलंपिक में एथलेटिक्स इवेंट्स में कभी कोई पदक नहीं मिला था।

Neeraj Chopra Wins Gold: टोक्यों ओलंपिक में बेहद शानदार रहा नीरज चोपड़ा प्रदर्शन

नीरज ने अपने पहले प्रयास में 87.03 की दूरी नापी और लीडरबोर्ड में पहले स्थान पर पहुंच गए। दूसरे प्रयास में नीरज ने 87.58 भाला फेंका और लीडरबोर्ड पर खुद को मजबूत किया और एक लिहाज से पदक पक्का कर लिया। तीसरे प्रयास में हालांकि वह 76.79 मीटर की ही दूरी नाप सके। उनका चौथा प्रयास फाउल रहा। नीरज का पांचवां प्रयास भी फाउल रहा।

यह ऐतिहासिक स्वर्ण पदक है। भारत ने इससे पहले एथलेटिक्स में कोई पदक नहीं जीता था लेकिन अब जब पदक आया तो वह भी सीधे गोल्ड। नीरज को ओलंपिक से पहले ही पदक का प्रबल दावेदार माना जा रहा था।

Neeraj Chopra Wins Gold: ओलंपिक में व्यक्तिगत गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज दूसरे भारतीय खिलाड़ी

नीरज भारत की तरफ से व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं इससे पहले निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने बीजिंग ओलंपिक 2008 में पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक जीता था। भारत ने पहली बार एंटवर्प ओलंपिक 2020 में एथलेटिक्स में भाग लिया था लेकिन तब से लेकर रियो 2016 तक उसका कोई एथलीट पदक नहीं जीत पाया था। दिग्गज मिल्खा सिंह और पीटी ऊषा क्रमश 1960 और 1984 में मामूली अंतर से चूक गये थे।

ये भी पढ़ें- Tokyo Olympics Wrestling 2021: पहलवान Ravi Dahiya की ओलंपिक में शानदार जीत, देश को दिलाया सिल्वर मेडल

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) अब भी नार्मन प्रिचार्ड के पेरिस ओलंपिक 1900 में 200 मीटर और 200 मीटर बाधा दौड़ में जीते गये पदकों को भारत के नाम पर दर्ज करता है, लेकिन विभिन्न शोध और अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स महासंघ (अब विश्व एथलेटिक्स) के अनुसार उन्होंने तब ग्रेट ब्रिटेन का प्रतिनिधित्व किया था।

Neeraj Chopra Wins Gold: आखिर कौन हैं इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा

नीरज चोपड़ा हरियाणा के पानीपत के रहने वाले हैं। नीरज चोपड़ा एक भारतीय ट्रैक और फील्ड एथलीट प्रतिस्पर्धा में भाला फेंकने वाले खिलाड़ी हैं। अंजू बॉबी जॉर्ज के बाद किसी विश्व चैम्पियनशिप स्तर पर एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक को जीतने वाले वह दूसरे भारतीय हैं।

नीरज ने 85.23 मीटर का भाला फेंककर 2017 एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। 2016 के दक्षिण एशियाई खेलों में उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय रिकॉर्ड की बराबरी करते हुए 82.23 मीटर तक भाला फेंक कर स्वर्ण पदक जीता था। नीरज ने 85.23 मीटर का भाला फेंककर 2017 एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में सम्पन्न हुए 2018 राष्ट्रमण्डल खेलों में उन्होंने 86.47 मीटर भाला फेंककर स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.