Muharram Guidelines: मुहर्रम में जूलूस और ताजिया पर रोक, यूपी समेत कई राज्यों ने जारी की गाइडलाइंस

0

Muharram Guidelines:  कोरोना की तीसरी लहर (third wave of corona) की संभावना को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) ने मुहर्रम (muharram) के मौके पर ताजिया और जूलूस पर पूर्णतया रोक लगा दी है। मुहर्रम में होने वाली भीड़ को देखते हुए उत्तर प्रदेश समेत देश कई राज्यों ने गाइडलाइन (guideline) जारी की है।

ये भी पढ़ें- Daily Horoscope 18 August 2021: आज है मूल नक्षत्र, जानिए अपनी राशि का हाल

बता दें कि मुहर्रम में हजरत इमाम हुसैन (Hazrat Imam Hussain) सहित कर्बला के 72 शहीदों की शहादत को याद करते हुए मातम मनाया जाता है। इस मातम में लोगों की काफी भीड़ इकठ्ठा होती है। लोग ताजिया और जूलूस निकालते है। इस बार मुहर्रम 19 अगस्त 2021 को पूरे देश में मनाया जाएगा।

Muharram Guidelines

Muharram Guidelines: अलग-अलग राज्यों ने मुहर्रम को लेकर जारी की गाइडलाइन

कोरोना के खतरे को देखते हुए देश के अलग-अलग राज्यों ने मुहर्रम को लेकर अपनी गाइडलाइन जारी किए है. इन गाइडलाइन का मकसद जूलूस में होने वाली भीड़ को कम करना और कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकना है. आइए जानते है मुहर्रम को लेकर किस राज्य ने क्या गाइडलाइन जारी की है.

Muharram Guidelines: अलग-अलग राज्यों द्वारा जारी की गई गाइडलाइन इस प्रकार हैं

उत्तर प्रदेश

मुहर्रम को लेकर यूपी सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि धार्मिक कार्यों के लिए किसी भी स्थान पर 50 से ज्यादा लोग एकत्र नहीं होंगे। इसके साथ ही लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का भी सख्ती से पालन करना होगा। सार्वजनिक रूप से ताजिया स्थापित नहीं किए जाएंगे। ताजिया और अलम अपने-अपने घरों में स्थापित करें, इसपर किसी प्रकार की रोक नहीं रहेगी। संवेदनशीन एवं कंटेनमेंट जोन में पर्याप्त संख्या में पुलिस तैनात रहेगी।

बिहार

बिहार सरकार (Bihar government) ने भी कोरोना को ध्यान में रखते हुए मुहर्रम के लिए गाइडलाइन जारी की है। जारी गाइडलाइन के मुताबिक इस बार मुहर्रम पर कोई जूलूस या ताजिया सड़क पर नहीं निकाली जाएगी। सार्वजनिक रूप से ताजिया और अलम स्थापित करने पर भी रोक रहेगी। लोग ताजिया और अलम अपने घरों में स्थापित कर सकते हैं। मुहर्रम गाइडलाइन का सख्ती से पालन हो, इसके लिए धार्मिक और संवेदनशील जगहों पर पुलिस बल पर्याप्त संख्या में तैनात किए जाएंगे।

झारखंड

झारखंड सरकार (Jharkhand government) ने भी मुहर्रम को देखत हुए गाइडलाइन जारी की है। अपने गाइडलाइन में सरकार ने दिशा-निर्देश जारी करते हुए बताया है कि कोरोना के संभावित तीसरे लहर के खतरे को देखते हुए इस बार मुहर्रम में अपने-अपने इमामबाड़ा, अखाड़ा में खेल प्रदर्शन नहीं करेंगे. लोग सार्वजनिक स्थान व भीड़ वाले इलाकों में ताजिया व अलम की स्थापना नहीं करेंगे। इसके अलावा ताजिया व जूलूस निकालने पर भी झारखंड सरकार ने रोक लगा दी है।

उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के अलावा देश के कई राज्यों की सरकार ने मुहर्रम को लेकर  गाइडलाइन जारी कर दी है। ज्यादातर राज्य सरकारों ने इस बार कोरोना के संभावित तीसरी लहर को देखते हुए ताजिया व अलम की सार्वजनिक स्थापना पर रोक लगा दी है। हालांकि लोगों को अपने घर में ताजिया और अलम की स्थापना करने पर किसी भी राज्य में रोक नहीं लगाई गई है।

देश के हर राज्य की सरकार यही कहती है कि पर्व मनाइये लेकिन जारी की गई गाईडलाइन का पालन करते हुए खुशिया बांटिए। कोरोना काल में खुद भी सुरक्षित रहिए, औरों को भी सुरक्षित रखिए।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.