ISO सर्टिफिकेट पाकर बुंदेलखंड की पहली तहसील बनी मऊरानीपुर

झांसी जिले की मऊरानी तहसील में सबसे पहले जनता को बेहतर सेवा देने, स्वच्छ वातावरण प्रदान करके स्वच्छ और कुशल तहसील की दिशा में विकास को बनाए रखने के लिए कार्य शुरू किया गया।

0
झांसी: उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड (Bundelkhand) की मऊरानीपुर (Mauranipur) तहसील ने प्रदेश के अन्य तहसीलों के लिए अनूठी मिसाल पेश की है। इसके लिए तहसील प्रशासन ने मिशन के रूप में जनता से जुड़ी समस्याओं के निराकरण और तहसील के माहौल में परिवर्तन करने के लिए काम शुरू किया और झांसी जिले की इस तहसील को विभिन्न बिंदुओं पर बेहतर कार्य करने के लिए आईएसओ सर्टिफिकेट (ISO certificate) मिला।

झांसी जिले की मऊरानी तहसील में सबसे पहले जनता को बेहतर सेवा देने, स्वच्छ वातावरण प्रदान करके स्वच्छ और कुशल तहसील की दिशा में विकास को बनाए रखने के लिए कार्य शुरू किया गया। इसमें लोगों को अधिकतम लाभ दिलाने के उद्देश्य से राजस्व न्यायिक कार्यों, भूमि प्रबंधन, शिकायत निवारण, ई डिस्ट्रिक्ट, चुनाव प्रबंधन और जनता को विभिन्न योजनाओं की सुविधा देने और तहसील में उच्च स्तर पर राजस्व वसूली को मिशन के रूप में शुरू किया गया।

तहसील परिसर में सफाई, बुनियादी ढांचे और लेआउट, गुणवत्ता प्रबंधन, फाइल और दस्तावेजीकरण प्रणाली, ²श्य प्रबंधन और अन्य चीजों को चिह्न्ति कर कार्य किया गया। इसके बाद कमियों को कर्मचारियों को प्रशिक्षण देने के साथ बुनियादी ढांचे के विकास और तकनीकी उन्नति से दूर किया गया। साथ ही इन कार्यों को करने के लिए संसाधनों के चयन, तहसील कर्मचारियों को समझाने और गुणवत्ता नियंत्रण कार्य के लिए उन्हें प्रेरित किया गया।

झांसी के डीएम आंद्रे वामसी ने बताया कि लोगों की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निराकरण कराया जा रहा है। साथ ही कोशिश की जा रही है कि लोगों को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं समय पर उपलब्ध कराई जाएं।

नई सुविधाओं के तहत नई फाइलिंग प्रणाली, सभी तहसील कर्मियों के लिए सुरक्षा कार्ड, तहसील कर्मियों के लिए ड्रेस कोड, नए अतिरिक्त शौचालय, तहसील का रंग रोगन, तहसील का भू निर्माण, प्रदर्शित किए गए सभी व्यक्तियों के नाम और मोबाइल नंबर, आग बुझाने का यंत्र, बुनियादी ढांचे में सुधार, फर्नीचर का उच्चीकरण शामिल है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: