मंडुआडीह रेलवे स्टेशन अब कहलाएगा ‘बनारस’

18 अगस्त को मंडुवाडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस रखने का गृह मंत्रालय से आदेश पत्र जारी हो गया था। इसके बाद से अन्य कागजी तैयारियों ने जोर पकड़ लिया था। बनारस स्टेशन नामकरण को अब राज्यपाल ने भी हरी झंडी दे दी है।

0

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र का मंडुआडीह रेलवे स्टेशन (Manduadih Railway Station) का नाम बदलकर अब बनारस (Banaras) कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश (UP) की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (Governor Anandiben Patel) ने नाम बदलने की अनुमति दे दी है।

18 अगस्त को मंडुवाडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस रखने का गृह मंत्रालय से आदेश पत्र जारी हो गया था। इसके बाद से अन्य कागजी तैयारियों ने जोर पकड़ लिया था। बनारस स्टेशन नामकरण को अब राज्यपाल ने भी हरी झंडी दे दी है।

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी दी। उन्होंने लिखा, “प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मंडुआडीह स्टेशन को अब पूरे देश में लोकप्रिय और मशहूर नाम बनारस से जाना जाएगा।

उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल द्वारा, केंद्र सरकार के अनापत्ति पत्र (No Objection Certificate ) के आधार पर, इस स्टेशन का नाम बदल कर बनारस रखने की अनुमति दी गई।”

इससे पहले 17 अगस्त को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदलने के लिए मंजूरी दे दी थी। मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर कुल आठ प्लेटर्फार्म हैं। वाराणसी-नई दिल्ली की सबसे महत्वपूर्ण ट्रेन शिवगंगा एक्सप्रेस, ग्वालियर के लिए बुंदेलखंड एक्सप्रेस समेत आधा दर्जन प्रमुख ट्रेनों का संचालन होता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: