बंगाल में फिर से ममता सरकार, भाजपा बनेगी दूसरी बड़ी पार्टी: सर्वे

सत्तारूढ़ ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस बड़े नुकसान के बावजूद पश्चिम बंगाल में अपना किला बरकरार रख सकती है।

0
नई दिल्ली: सत्तारूढ़ ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस बड़े नुकसान के बावजूद पश्चिम बंगाल में अपना किला बरकरार रख सकती है। आगामी विधानसभा चुनावों में उनकी पार्टी 294 में से 158 सीटों पर जीत दर्ज कर सकती है।
वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्य में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर में उभरने के आसार हैं। यह बात एक सर्वे में सामने आई है। इस साल जनवरी में राज्य के सभी 294 विधानसभा क्षेत्रों में 18,000 लोगों पर यह सर्वेक्षण किया गया है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में पिछली बार की अपेक्षा कुछ नुकसान के साथ अबकी बार ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस के जीतने का अनुमान है, जबकि भाजपा राज्य में महत्वपूर्ण बढ़त हासिल कर सकती है।

294 सदस्यीय पश्चिम बंगाल विधानसभा में टीएमसी की ओर से 154 सीटों पर जीत हासिल करने का अनुमान है। पार्टी को 2016 में मिली 211 सीटों के मुकाबले 53 सीटें कम मिलने की उम्मीद है।

भाजपा राज्य में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर रही है। इस चुनाव में भाजपा सरकार बनाती बेशक न दिखाई दे रही हो, मगर वह पिछले बार की तीन सीटों के मुकाबले आगामी विधानसभा चुनाव में 102 सीटें जीत सकती है। भगवा पार्टी राज्य में अपने पिछले प्रदर्शन से ऐतिहासिक रूप से 99 सीटें अधिक जीत सकती है।

संभावना है कि कांग्रेस और वामपंथी दल एक बार फिर राज्य में अपनी जमीन बचाने में नाकाम रहने वाले हैं, क्योंकि 2016 के विधानसभा चुनावों में उन्हें मिली 76 सीटों की तुलना में इस बार उन्हें महज 30 सीटें मिलने की उम्मीद है।
कांग्रेस और वाम दलों ने पिछले साल दिसंबर में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए गठबंधन की घोषणा की थी। सर्वेक्षण में भविष्यवाणी की गई है कि अन्य दल राज्य में चार सीटें जीत सकते हैं।

सर्वेक्षण में यह भी कहा गया है कि 2016 के विधानसभा चुनावों में टीएमसी को 44.9 प्रतिशत वोट शेयर मिला था, जबकि इस बार उसके वोट शेयर में सेंध लगेगी, क्योंकि इस बार उसे 43 प्रतिशत वोट शेयर मिलने की उम्मीद है। पार्टी को आगामी चुनाव में 1.9 प्रतिशत वोट शेयर गंवाना पड़ सकता है।

दूसरी ओर, भाजपा राज्य में अधिकतम वोट शेयर प्राप्त करने के लिए तैयार है और सर्वे में उसे 2016 में मिले 10.2 प्रतिशत वोट शेयर की तुलना में इस बार 37.5 प्रतिशत वोट शेयर प्राप्त करने की भविष्यवाणी की गई है। भगवा पार्टी बंगाल में मतदाताओं के बीच ऐतिहासिक तौर पर पैठ बनाती दिख रही है और उसके वोट शेयर में 27.3 प्रतिशत की बढ़त नजर आ रही है।

सर्वेक्षण में अनुमान लगाया गया है कि कांग्रेस और वाम दलों को भी अपने वोट शेयर में बड़ी सेंध का सामना करना पड़ेगा। वर्ष 2016 के विधानसभा चुनावों में 32 प्रतिशत वोट शेयर की तुलना में इनका वोट शेयर घटकर 11.8 प्रतिशत रह जाएगा और उन्हें 20.2 प्रतिशत की गिरावट झेलनी होगी। सर्वेक्षण में यह भी कहा गया है कि अन्य को 7.7 प्रतिशत वोट शेयर प्राप्त होगा, जो 2016 के 12.9 प्रतिशत वोट शेयर से 5.2 प्रतिशत कम होगा।

सर्वेक्षण में यह भी अनुमान लगाया गया है कि टीएमसी को राज्य में 154 से 162 सीटों पर जीत मिल सकती है और वह सरकार बना सकती है। वहीं भाजपा को 98 से 106 सीटें मिलने की संभावना है। सर्वे में सामने आया कि कांग्रेस और वाम दल राज्य में 26 से 34 सीटें जीत सकते हैं, जबकि अन्य के खाते में दो से छह सीटें जा सकती है। भाजपा ने कई मौकों पर कहा है कि वह राज्य में लगभग 200 सीटों पर जीत दर्ज करेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: