गुजरात की ‘मां’, ‘मां वात्सल्य’ स्वास्थ्य योजनाओं का ‘आयुष्मान भारत’ में होगा विलय

"अब तक 'मां' और 'मां वात्सल्य' योजनाओं के लाभार्थी गंभीर बीमारी के लिए ही तीन लाख और पांच लाख रुपये तक का इलाज सरकारी अस्पताल में करा सकते थे। अब प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए और अधिक संख्या में बीमारियों को शामिल करने के लिए, दोनों योजनाओं को केंद्र सरकार की 'आयुष्मान भारत' योजना में मिला दिया गया है।

0

गांधीनगर: गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने शनिवार को घोषणा की कि राज्य सरकार की स्वास्थ्य योजनाओं ‘मां’ और ‘मां वात्सल्य’ का अब केंद्र सरकार की ‘आयुष्मान भारत’ योजना में विलय कर दिया जाएगा, ताकि प्रक्रियाओं को और आसान किया जा सके।

पटेल ने मेहता हार्ट अस्पताल में इसकी घोषणा की, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है।

उन्होंने मीडिया को बताया, “अब तक ‘मां’ और ‘मां वात्सल्य’ योजनाओं के लाभार्थी गंभीर बीमारी के लिए ही तीन लाख और पांच लाख रुपये तक का इलाज सरकारी अस्पताल में करा सकते थे। अब प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए और अधिक संख्या में बीमारियों को शामिल करने के लिए, दोनों योजनाओं को केंद्र सरकार की ‘आयुष्मान भारत’ योजना में मिला दिया गया है। इसके तहत लाभार्थी को अधिकतम पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलेगा।”

पटेल ने कहा, “योजना के तहत विभिन्न पैकेजों के लाभों का लाभ उठाने के लिए नियम एक समान रहेंगे, लेकिन अब लाभार्थी को विभिन्न प्रक्रियाओं से गुजरना होगा और विभिन्न दस्तावेज जमा नहीं करने होंगे।”

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: