Lockdown: ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन के लिए उपाय किए जाएं- डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

0

Lockdown: ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन के लिए उपाय किए जाएं- डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

Lucknow: यूपी के डिप्टी सीएम(Deputy CM)केशव प्रसाद मौर्य ने बुद्धवार को लखनऊ में उच्चस्तरीय बैठक की, बैठक में डिप्टी सीएम(Deputy CM)ने लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को ज्यादा से ज्यादा साइटों पर काम शुरू कराने के लिए कहा, जिससे लॉकडाउन(Lockdown)की मार झेल रहे अधिक से अधिक मजदूरों को काम मिल सके। उन्होंने कहा कि आगे बड़ी संख्या में मजदूरो को रोजगार देना है, इस लिए रोजगार सृजन(Employment generation)के उपायों पर अधिक अधिक ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नवीनीकरण(Renewal)के कार्य युद्ध स्तर पर कराए जाएं। राजकीय निर्माण निगम की काफी परियोजनाओं पर कार्य शुरू कर दिया गया है,https://www.pmindia.gov.in/en/ और वहीं पर श्रमिक रह भी रहे हैं ।

डिप्टी सीएम ने ज्यादा से ज्यादा रोजगार पैदा करने के दिए निर्देश

उपमुख्यमंत्री(Deputy CM)ने उच्चस्तरीय बैठक में विभिन्न परियोजनाओं पर शुरू किए गए कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि “श्रमिकों(Workers)को रोजी-रोटी उपलब्ध कराने में लोक निर्माण विभाग की अहम भूमिका हो सकती है। इसीलिए ज्यादा से ज्यादा साइटों पर काम शुरू कराएं, ताकि अधिक से अधिक मजदूरों को काम मिल सके। रोजगार सृजन के उपायों पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है।”

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने की उच्चस्तरीय बैठक

उन्होंने कहा, “ग्रामीण सड़कों पर अधिक से अधिक फोकस किया जाए। 10 हजार किलोमीटर की सड़कों के नवीनीकरण के कार्य स्वीकृत हैं, जिन्हें कराया जाए। रोजगार सृजन में कोई अड़चन न आने पाए, इसके लिए सारी व्यवस्थाएं की जाएं। साइटों पर काम करने वाले श्रमिकों(Workers)को सैनिटाइजर, साबुन, पानी आदि की व्यवस्था करते हुए श्रमिकों का तापमान लिया जाए।”

Click Here To Download Arogya Setu Aap

उपमुख्यमंत्री(Deputy CM)केशव प्रसाद मौर्य ने निर्देश दिए कि वित्त विभाग से जो भी अनुमति लेनी है, उसकी पैरवी करके अनुमति लेना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि नव निर्माण, ग्रामीण मागोर्ं व मार्ग के नवीनीकरण के कार्यों व रोजगारपरक अन्य कार्यों को सूचीबद्घ कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि पीपे के पुलों के कई प्रस्ताव आए थे, इस पर भी अधिकारी विचार-विमर्श कर कार्यों को कराना सुनिश्चित करें।

अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: