Lockdown Pratapgarh:हरियाणा में फंसे प्रतापगढ़ के 62 प्रवासी मजदूरों की हुई घर वापसी।

0
155
Lockdown Pratapgarh

Lockdown Pratapgarh:हरियाणा में फंसे प्रतापगढ़ के 62 प्रवासी मजदूरों की हुई घर वापसी।

Lockdown Pratapgarh:कोरोना(Coronavairus)के बीच लॉकडाउन(Lockdown)के कराण हरियाणा में फंसे 12000 प्रवासी मजदूरों(Migrant Workers)को उत्तर प्रदेश सरकार वास से उनके घर ले आई, जिनमें प्रतापगढ़(Lockdown Pratapgarh)के भी 62 मजदूर शामिल है। हरियाणा से लाए गए मजदूरों को  जोगापुर स्थित मार्डन साइंस स्कूल में क्वारंटाइन(Quarantine)किया गया है। वापस अपने गृह जनपद आने पर सभी मजदूरों ने राहत की सांस ली।https://www.pmindia.gov.in/en/

Lockdown Pratapgarh

प्रतापगढ़ के 62 प्रवासी मजदूर हैं क्वरंटाइन

लॉकडाउन(Lockdown)के दौरान फंसे प्रवासी मजदूरों(Migrant Workers)को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था, जिस के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लॉकडाउन(Lockdown)में दूसरे प्रदेशों में फंसे मजदूरों को घर वापस लाने की घोषणा की जिसके  बाद सभी ने राहत की सांस ली। हरियाणा में फंसे 12000 प्रवासी मजदूरों को प्रदेश की योगी सरकार उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन सेवा(UPSRTC) की बसों से वापस लाई, जिनमें प्रतापगढ़ के 62 मजदूर शामिल हैं ।

Click Here To Download Arogya Setu Aap

रविवार को बस के द्वारा 31 प्रवासी मजदूर प्रतापगढ़ लाए गए, और बाकी 31 मजदूर सोमवार की सुबह वापस आ गए जिनकों एक स्कूल में 14 दिनों के लिए क्वरंटाइन(Quarantine)किया गया है, 14 दिन के बाद इन सभी को उनके घर भेज दिया जाएगा।

Lockdown Pratapgarh

लॉकडाउन(Lockdown) के बाद हरियाणा में फंसे थे 62 प्रवासी मजदूर

डीएम डा0 रूपेश कुमार ने हरियाणा से आए मजदूरों से मिलकर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली। डीएम ने एसडीएम सदर मोहन लाल गुप्ता और तहसीलदार सदर को क्वारंटाइन(Quarantine)किए प्रवासी मजदूरों के खाने-पीने, साफ-सफाई की उचित व्यवस्था बनाए रखने और क्वारंटाइन सेंटर(Quarantine Center) में रहने वाले मजदूरों को सोशल डिस्टेंशिन(Social distance)बनाए रखने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें।

Coronavairus Pratapgarh:कुण्डा में कोरोना हॉटस्पाट सील, डीएम और एसपी ने किया निरीक्षण

Lockdown: खेतों में मजदूरी करने वाले ने हज यात्रा के पैसों से गरीबों को खाना खिलाया..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here